Vidisha MP News: मध्य प्रदेश के विदिशा शहर में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलने लगा है। अब तक शहर का करीब 60 फीसद क्षेत्र कोरोना प्रभावित हो गया है। जिसके चलते लोगों में डर बढ़ने लगा है। ग्रामीण क्षेत्रों से आकर किराए के घरों में रहने वाले लोग अब वापस गांव लौटने लगे हैं। जिले में कोरोना पीड़ित मरीजों का आंकड़ा 500 पार हो गया है। शहर में भी कोरोना मरीजों की संख्या 200 से अधिक हो गई हैं। गुरुवार को फिर एक कोरोना पीड़ित महिला की मौत हो गई। अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 9 हो गई है।

शहर में पिछले एक पखवाड़े से हर रोज 12 से 15 मरीज औसतन मिल रहे हैं। इनमें आम लोगों के अलावा व्यापारी, डॉक्टर से लेकर पुलिसकर्मी तक शामिल हैं। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए एक दिन पहले व्यापारिक संगठनों ने बाजार खुलने के समय में कटौती करने का निर्णय लिया है। पहले बाजार सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक खुल रहा था। अब किराना, सराफा, कपड़ा, ऑटो पार्ट्स और स्टेशनरी के व्यापारियों ने शाम 6 बजे तक ही दुकाने खोलने का निर्णय लिया है। शहर में कोरोना के मरीज बढ़ने से जगह जगह बैरिकेडिंग कर कंटेनमेंट जोन बनाए जा रहे है। एक दिन पहले बुधवार को निकासा वाली गली के पास एक व्यापारी के संक्रमित पाए जाने पर प्रशासन ने मुख्य सड़क पर ही बैरिकेडिंग कर दी। पहले पूरा रास्ता बंद कर दिया था। गुरुवार को सड़क से गुजरने के लिए एक पतली गली छोड़ दी है। जहां से सिर्फ दो पहिया वाहन निकल रहे है। इसकी वजह से गुरुवार को दिन भर मुख्य सड़क पर जाम लगते रहा। शहर के भीतरी हिस्सों में भी कंटेनमेंट जोन बनाए जाने से कई गलियां बन्द हो गई है। जिससे यातायात व्यवस्था पूरी तरह बिगड़ गई है।

कोरोना के डर से लौटने लगे गांवः

शहर के विभिन्ना मोहल्लों और कालोनियों में लगातार कोरोना मरीज मिलने से लोगों में डर बढ़ता जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र से शहर आकर किराए के मकानों में रहने वाले लोग वापस गांव लौटने लगे हैं। रोजगार से जुड़े लोग गांव से आना जाना कर रहे है लेकिन, वे शहर में नही रुक रहे है। कुछ लोग बच्चों को पढ़ाने के लिए शहर में रहते हैं। स्कूल बंद होने और कोरोना के कारण वे भी परिवार सहित गांव पहुंच गए हैं। वैशाली नगर निवासी बलवीर सिंह रघुवंशी पिछले एक माह से परिवार सहित अपने गांव निनोरी खेड़ा में रह रहे हैं। वे गांव से शहर बाइक से आना जाना कर रहे हैं। इसी तरह चिरोली गांव के राकेश किरार अपने बच्चों के साथ विदिशा में रहते थे। वे भी अब गांव पर ही है। ग्रामीण क्षेत्र के लोग अब शहर आने से भी बच रहे हैं।

शहर में हॉट स्पाट बने तीन क्षेत्र, 200 पार हुआ आंकड़ाः

शहर में पिछले एक पखवाड़े से तीन क्षेत्र हॉट स्पॉट बने हुए हैं। इनमें किला अंदर क्षेत्र, डंडापुरा और स्वर्णकार कालोनी शामिल है। इन क्षेत्रों में कोरोना के सबसे अधिक मरीज मिले हैं। गुरुवार को हरिपुरा में भी सबसे अधिक 12 मरीज मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार शहर में कोरोना पीड़ित कुल मरीजों की संख्या 200 से अधिक हो गई है। इनमें सक्रिय मरीजों की संख्या करीब 74 है। शहर के 39 वार्डो में से 22 वार्डों में कोरोना मरीज मिल चुके हैं। अभी बंटी नगर, रामलीला सहित कुछ क्षेत्र बचे हैं जहां कोरोना मरीज नहीं मिले हैं।

30 दिनों में 274 एवं 13 दिनों में मिले 181 मरीजः

जिले में कोरोना के रफ्तार का अंदाजा इन आंकड़ों से लगाया जा सकता है। पिछले माह जुलाई के 31 दिनों में कुल 274 नए मरीज मिले थे। जबकि इस माह अगस्त के बीते 13 दिनों में मरीजों की संख्या 181 पर पहुंच गई है। 30 जून को जिले में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या मात्र 49 थी। इनमें सक्रिय मरीजों की संख्या सिर्फ आठ थी। वहीं 31 जुलाई को जिले में कोरोना मरीजों की संख्या 323 थी। इनमें सक्रिय मरीज 89 थे। बीते 13 दिनों के दौरान कोरोना मरीजों की संख्या में सबसे अधिक इजाफा हुआ है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020