खतरे के निशान से डेढ़ फिट नीचे बेतवा, गांवों में बाढ़ के हालात बरकरार

- छोटी नदियों का उफान उतरने के बाद शमशाबाद, सिरोंज और लटेरी के रास्ते खुले, बासौदा और कुरवाई के रास्ते बंद

फोटो 8

विदिशा। बेतवा का जल स्तर बढ़ने से रंगई स्थित बाढ़ वाले गणेश मंदिर का परिसर पानी से लबालब रहा।

फोटो 9

विदिशा। नया गोला से पिपलधार रोड पर कपूरना नदी का पुल क्षतिग्रस्त हो गया।

विदिशा। लगातार बारिश के कारण बेतवा नदी इस साल का उच्चतम आंकड़ा छूते हुए खतरे के निशान से डेढ़ फिट नीचे तक पहुंच गई है। शुक्रवार को बेतवा का जल स्तर 1071.60 फिट रहा। जबकि खतरे का निशान 1073 फिट है। जिसके चलते बासौदा और कुरवाई के पुल पर पांच से दस फिट तक पानी होने से तीसरे दिन भी आवागमन बंद रहा। जिले की छोटी नदियों का उफान उतरने के बाद शुक्रवार को शमशाबाद, लटेरी और सिरोंज के रास्ते खुल गए। इधर, शहर में सुबह भी करीब चार घंटे तक जोरदार बारिश होती रही। जिले में अब तक 58 इंच बारिश हो चुकी है जो पिछले वर्ष की तुलना में 25 इंच और सामान्य वर्षा से 15 इंच अधिक है।

जिले में हो रही लगातार बारिश 5 साल पुराना रिकार्ड तोड़ने की तैयारी में है। वर्ष 2013-14 में पूरे सीजन में जिले में 68 इंच बारिश दर्ज हुई थी। इस बार सीजन समाप्त होने के पहले ही बारिश का आंकड़ा 58 इंच तक पहुंच गया है। शुक्रवार को जिले में सुबह के समय करीब चार घंटे तक जोरदार बारिश हुई। इसके बाद दिनभर मौसम खुला रहा। लेकिन भोपाल और रायसेन में अच्छी बारिश और भदभदा तथा कोलार बांध के गेट खुले होने के कारण बेतवा नदी का जल स्तर 12 घंटे में ढाई फिट बढ़ गया। सीजन में पहली बार बेतवा नदी का जल स्तर 1371.60 फिट तक पहुंच गया है। इधर, हलाली डैम से भी 42 इंच वेस्ट वियर से पानी छोड़ा जा रहा है। जिसकी वजह से गांवों में बाढ़ के हालात बरकरार हैं। दो दर्जन से अधिक गांवों के लोगों को अन्यत्र स्थानों पर ठहराया गया है। कलेक्टर कौशलेन्द्र सिंह के मुताबिक बाढ़ के हालातों को देखते हुए जिले में एसडीईआरएफ के अलावा एनडीआरएफ की टीम भी बुलवा ली गई है।

क्षतिग्रस्त हुए नदी नालों के पुल, शुरू हुआ आवागमन

एक दिन पहले गुरूवार को जोरदार बारिश के कारण ग्रामीण क्षेत्रों के नदी नाले भी उफान पर होने के कारण तहसील मुख्यालयों का विदिशा जिला मुख्यालय से पूरी तरह सड़क संपर्क टूट गया था। लेकिन शुक्रवार को इन नदी नालों का उफान उतरने के बाद गांवों का मुख्य सड़कों से आवागमन शुरू हो गया। नदियों का उफान उतरने के बाद ग्रामीण क्षेत्रों के अधिकांश पुल-पुलियाएं क्षतिग्रस्त हो गई हैं। जिसके कारण बड़े वाहनों की आवाजाही में दिक्कतें हो रही हैं।

जिले में हुई बारिश के आंकड़े

- तहसील- 24 घंटे की बारिश- अब तक की बारिश

- विदिशा-48-1527

- बासौदा-114-1795

- कुरवाई-70-1330

- सिरोंज-103-1344

- लटेरी-110-1258

- ग्यारसपुर-60-1532

- गुलाबगंज-52-1589

- नटेरन-118-1485

कुल औसत बारिश-84-1483

(स्त्रोत : भू अभिलेख कार्यालय, सभी आंकड़े मिमी. में)