फोटो नंबर 25

नटेरन। कार्यक्रम में मौजूद भाजपा पदाधिकारी।

नटेरन। नवदुनिया न्यूज

बुधवार को भाजपा मंडल नटेरन की बैठक संपन्ना हुई, जिसमें मुख्य रुप से जिला पंचायत अध्यक्ष तोरणसिंह दांगी, जिला किसान मोर्चा अध्यक्ष योगेंद्र सिंह सोलंकी एवं बैठक की अध्यक्षता भाजपा वरिष्ठ नेता पंडित लक्ष्मी नारायण तिवारी ने की। बैठक का शुभारंभ पंडित दीनदयाल उपाध्याय एवं श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर दीप प्रज्ज्वलित एवं माल्यार्पण कर किया मंडल के अध्यक्ष बहादुर सिंह दांगी द्वारा मंचासीन सभी अतिथियों का हार फूल माला से स्वागत किया। बैठक के दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष तोरणसिंह दांगी ने कहा कि जल्द ही मंडल स्थानी समितियों के निर्वाचन की प्रक्रिया संपन्ना होना है। संगठन के चुनाव की प्रक्रिया हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए। वहीं बैठक में आए सभी कार्यकर्ताओं से अनुरोध किया कि शुक्रवार 20 सितंबर को अतिवृष्टि से हुई फसल फसलों के नुकसान का अतिशीघ्र उचित सर्वे व राहत राशि की मांग को लेकर शमशाबाद विधायक के नेतृत्व में एसडीएम को ज्ञापन सौंपा जाएगा जिसमें सभी कार्यकर्ता एवं सभी किसान बंधु अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित हों।

बैठक का संचालन मंडल महामंत्री अरविंद अहिरवार ने किया। आभार प्रगट मीडिया प्रभारी सचिन तिवारी ने व्यक्त किया। इस अवसर पर जिला मंत्री रामकृष्ण मीणा, मंडल अध्यक्ष बहादुर सिंह दांगी, जिला पंचायत सदस्य गोपाल यादव, प्रेम सिंह राजपूत, अखिलेश चौकसे, राजेश साहू, संजय चौकसे, घनश्याम शर्मा, कमलेश मालवीय, अरुण तिवारी, गंगाराम धाकड़, ब्रजमोहन धाकड़, संजय धाकड़, शैलेंद्र रघुवंशी, रामबाबू यादव, भीमसेन शर्मा, संजीव तरफदार, सुनील सांवलिया सहित भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

अंतिम संस्कार करने बनी विवाद की स्थिति

फोटो नंबर 26

विदिशा। गांव में अंतिम संस्कार करते हुए परिजन।

विदिशा। नवदुनिया प्रतिनिधि

नटेरन तहसील के ग्राम मूडरी खिरनी में अंतिम संस्कार करने को लेकर दो पक्षों में विवाद की स्थिति बन गई। मौके पर पुलिस प्रशासन पहुंचा और मामला शांत कराया बाद में अंतिम संस्कार हो सका। जानकारी के अनुसार गांव में लालाराम अहिरवार के निधन के बाद परिजन और समाज के लोग गांव में बने श्मशान पर पहुंचे तो कुछ लोगों ने उन्हें अंतिम संस्कार करने से रोक दिया। इसके बाद तहसीलदार एचपी सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। तहसीलदार ने बताया कि गांव के अजा वर्ग समाज का श्मशान दूसरी तरफ था जहां बारिश का पानी भरा हुआ था। वह दूसरी तरफ अंतिम संस्कार करने पहुुंचे थे तो यहां कुछ विशेष वर्ग के लोगों ने उन्हें रोक दिया। मौके पर पहुंचकर लोगों से बात की बाद में मामला शांत हो गया और मृतक का अंतिम संस्कार करा दिया गया।