बेटियों पर अत्याचार के विरोध में महिलाएं भी आई आगे, दिया ज्ञापन

फोटो नंबर-1

विदिशा। डिप्टी कलेक्टर को ज्ञापन सौंपती महिलाएं।

विदिशा। हैदराबाद में महिला डॉक्टर से हुई ज्यादती और हत्या के विरोध में अब शहर की महिलाएं भी आगे आ गई हैं। बुधवार को श्री राष्ट्रीय राजपूत करनी सेना के बैनर तले महिलाओं ने नवीन कलेक्ट्रोरेट पहुंचकर डिप्टी कलेक्टर बृजेंद्र यादव को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, कानून मंत्री के नाम ज्ञापन दिया। इस दौरान उन्होंने खूब नारेबाजी की।

मालूम हो कि हैदराबाद में महिला डॉक्टर से हुई ज्यादती के बाद शहर में विरोध बढ़ता जा रहा है। इस घिनोंने कृत्य की हर तरफ निंदा की जा रही है। राजपूत करनी सेना द्वारा दिए गए ज्ञापन में बताया है कि जिस तरह से प्रतिदिन महिलाओं, बालिकाओ व मासूम बेटियों के साथ अत्याचार, बलात्कार हो रहे हैं। इन बढ़ती घटनाओं से हम आहत हैं। बेटियां डर के साये में घर से निकल रही हैं। आंतरिक सुरक्षा-व्यवस्था पर भी प्रश्न चिन्ह लग गया है। ज्ञापन में ऐसे मजबूत कानून को बनाने की मांग की गई है कि बेटियां बेखूब घर से बाहर निकलकर सुरक्षति अपने घर पहुंच सके। उन्होंने मांग की है कि देश भर में चल रहे ऐसे प्रकरणों को फास्ट ट्रेक कोर्ट में चलाकर तुरंत प्रभाव से फांसी दी जाये। आक्रोशित महिलाओं ने प्रियंका के हत्यारों को खुले आम फांसी दिए जाने की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष रश्मि चंदेल, कल्पना पवार, सुपर्णा राजपूत, शशिप्रभासिंह, इंदुबाला कुशवाह, मंजू राजपूत, संध्या राठौर, रंजना राठौर, विमलेश राजपूत, सरिता चंद्रावत, ऊषा राजपूत, अल्का राजपूत, मोना राजपूत, सीमा भदौरिया आदि मौजूद रहीं।

Posted By: Nai Dunia News Network