अपडेट पुलआउट पेज 1 लीड

विधायक ने एमडी से कहा यूरिया नहीं मिला तो करना पड़ेगी नाकाबंदी, कुछ ही घंटों में मंजूर हो गई 7 रैक

- नवदुनिया की खबर से मचा हड़कंप, 7 से 15 दिसंबर के बीच जिले में आएगी 4 रैक यूरिया

फोटो 2

विदिशा। मार्कफेड के गोदाम पर यूरिया के लिए जुटी किसानों की भीड़ और तैनात पुलिसकर्मी।

फोटो 12

विदिशा। नवदुनिया में बुधवार को प्रकाशित खबर।

विदिशा। जिले में यूरिया की कमी से किसानों की नाराजगी और सहकारी समितियों में पिछले चार दिनों से यूरिया नहीं होने की खबर नवदुनिया में प्रकाशित होने के बाद बुधवार को दिनभर विदिशा से लेकर भोपाल तक अधिकारियों में हड़कंप मचा रहा। यूरिया नहीं मिलने से नाराज स्थानीय विधायक शशांक भार्गव ने सुबह के समय मार्कफेड के एमडी स्वाति मीणा से स्पष्ट कह दिया कि यदि जिले को यूरिया नहीं मिला तो वे पूरे जिले से यूरिया का परिवहन नहीं होने देंगे। इसके कुछ घंटों बाद ही जिले के लिए यूरिया की 7 रैक मंजूर हो गई। जिला सहकारी बैंक के सीईओ विनयप्रकाश सिंह के मुताबिक 7 से 15 दिसंबर के बीच जिले को 4 रैक यूरिया मिलेगी। इसके अगले पखवाड़े में 3 रैक यूरिया और मिलेगा। पहले सप्ताह में ही रैक आने से जिले में यूरिया का संकट समाप्त हो जाएगा।

मालूम हो जिले में पिछले एक पखवाड़े से यूरिया की कमी बनी हुई है। जगह-जगह नाराज किसान चक्काजाम कर रहे हैं। सिरोंज शहर में ही मंगलवार और बुधवार को लगातार दो दिनों से किसान चक्काजाम कर रहे हैं। नवदुनिया ने किसानों की इसी समस्या को बुधवार के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया था। जिसमें अफसरों के हवाले से बताया गया था कि सहकारी समितियों में पिछले चार दिनों से यूरिया नहीं है। वहीं एक सप्ताह तक यूरिया की रैक आने की संभावना नहीं है। इसी खबर के प्रकाशित होने के बाद बुधवार को दिनभर जनप्रतिनिधियों से लेकर अधिकारियों के बीच हलचल मची रही।

विधायक ने अफसरों से की बात, जताई नाराजगी

नवदुनिया में खबर प्रकाशित होने के बाद बुधवार की सुबह स्थानीय कांग्रेस विधायक शशांक भार्गव ने जिले के अधिकारियों के अलावा कमिश्नर कल्पना श्रीवास्तव, मार्कफेड की एमडी स्वाति मीणा और सहकारिता विभाग के प्रमुख सचिव अजीत केसरी से चर्चा की। इस दौरान उन्होंने जिले में यूरिया की नियमित आपूर्ति नहीं होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने मार्कफेड की एमडी मीणा से यहां तक कह दिया कि यदि जिले को यूरिया नहीं मिला तो जिले के क्षेत्र से यूरिया का परिवहन नहीं होने दिया जाएगा। विधायक की नाराजगी के बाद सहकारिता के एमडी प्रदीप नीखरा ने स्थानीय अधिकारियों से मेल पर जानकारी बुलाई। जिसे विभाग के प्रमुख सचिव केसरी को भेजा गया। पीएस के निर्देश पर शाम होते तक विदिशा जिले के लिए यूरिया की 7 रैक मंजूर हो गई। विधायक भार्गव ने किसानों को आश्वस्त करते हुए कहा कि उन्हें खाद की कमी नहीं आने दी जाएगी। गुरूवार और शुक्रवार को भी आसपास के क्षेत्रों से यूरिया लाकर किसानों को बांटा जाएगा।

सीईओ बोले आवश्यकता से अधिक उपलब्ध होगा खाद

जिला सहकारी बैंक के सीईओ विनयप्रकाश सिंह के मुताबिक शासन से 7 रैक यूरिया मंजूर होने के बाद जिले में यूरिया का संकट पूरी तरह समाप्त हो जाएगा। उन्होंने बताया कि यूरिया की पहली रैक 7 दिसंबर को आ जाएगी। इसके बाद 15 दिसंबर तक दो अन्य रैक आएंगी। एक सप्ताह के भीतर जिले में लगभग 10 हजार मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध होगा। जो डिमांड से काफी अधिक होगा। उन्होंने बताया कि 15 दिसंबर के बाद 3 रैक और मिलेंगी। जिले में इस वर्ष 40 हजार मीट्रिक टन यूरिया का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें से 28 हजार मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध हो चुका है। नई मंजूरी के बाद लक्ष्य शत प्रतिशत पूरा हो जाएगा। इसके बाद भी यूरिया की आवक निरंतर बनी रहेगी। यह यूरिया सहकारिता समिति के अलावा निजी दुकानों और मार्कफेड के गोदामों से भी वितरित किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network