फ्लायर

फोटो 4

विदिशा। सामाजिक संस्था ज्ञान सरोवर की कार्यकर्ताओं ने मास्क पहनने के लिए लोगों को प्रेरित करने का संकल्प लिया।

विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ रहा है। हर रोज 25 से अधिक नए मरीज मिल रहे है, इसके बावजूद लोगों में कोरोना को लेकर डर दिखाई नहीं देता है। शहर के मुख्य बाजारों से लेकर चौक चौराहों तक लोग बिना मास्क के घूमते दिखाई देते हैं, जबकि विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनना बेहद जरूरी है। इसी के चलते नवदुनिया ने 'अभी मास्क ही वैक्सीन' अभियान शुरू किया है। इसमें शुक्रवार को महिलाओं और बच्चों ने संकल्प लिया कि वे अपने परिजनों की सुरक्षा के लिए उन्हें बिना मास्क के घर से बाहर नहीं जाने देंगे। महिलाओं का कहना है कि मास्क के उपयोग के लिए घर के लोगों को ही जिम्मेदारी लेना होगी। यदि हर घर के बच्चे और महिलाएं मास्क को लेकर जागरुक हो जाएं तो न केवल अपने परिवार को कोरोना से बचा सकेंगे बल्कि अपने संपर्क में आने वालों की भी सुरक्षा कर सकेंगे।

कोरोना महामारी में सबसे ज्यादा सुरक्षा मास्क का उपयोग करने से ही है। जिन्होंने मास्क का उपयोग किया है वे संक्रमण से बचे हुए हैं। घर के लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करना महिलाओं की भी जिम्मेदारी है। परिवार के प्रत्येक सदस्य को घर से बाहर निकलने से पहले मास्क पहनने के लिए टोकना चाहिए। यह काम महिलाएं बखूबी कर सकती हैं।

- मंजरी जैन, सामाजिक कार्यकर्ता

शहर में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है इसके बावजूद सार्वजनिक स्थानों पर अधिकांश लोग बिना मास्क के ही दिखाई देते हैं। यह शहर और समाज के लिए चिंताजनक है। अब सभी महिलाओं को आगे बढ़कर परिवार के लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करना होगा। मैं अपने परिवार के लोगों को बिना मास्क पहने घर से बाहर नहीं जाने दूंगी।

- इंदिरा राजपूत, विदिशा

घर से बाहर निकलते हैं तो हम सबको अनिवार्य रूप से मास्क पहनना चाहिए। इससे वायरस और बैक्टीरिया के संक्रमण से बचा जा सकता है। बहुत से लोग जाने-अनजाने में एक दूसरे को संक्रमित कर देते हैं। मास्क पहनने से संक्रमण का खतरा नहीं रहता है। परिवार की महिलाएं और बच्चे अन्य परिजनों को मास्क पहनने के लिए बाध्य कर सकते हैं।

- डॉ. शिखा जैन, विदिशा

वर्तमान में मास्क लगाना ही कोरोना संक्रमण से बचने का सबसे सशक्त जरिया है। हर व्यक्ति को मास्क पहनकर ही घर से बाहर निकलना चाहिए। महिलाएं अपनी नैतिक जिम्मेदारी समझकर परिवार के लोगों को बिना मास्क के घर से बाहर ना जाने दें। मेरे परिवार के सदस्य बिना मास्क के घर से बाहर नहीं निकलेंगे।

- श्याम कुंवर यादव, विदिशा

कोरोना संक्रमण कहीं भी किसी से भी फैल सकता है। डॉक्टर भी कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनने और शारीरिक दूरी का पालन करने की सलाह देते हैं। हमारी टीचर ने भी घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनने की सीख दी है। मैं अपने मम्मी-पापा को भी बिना मास्क के घर से बाहर नहीं जाने दूंगा।

- अभय रघुवंशी, छात्र, विदिशा

मास्क पहनने से हम कोरोना के संक्रमण से बच सकते हैं। कई लोग मुंह पर मास्क पहनते नहीं मात्र गले में लटका कर घूमते हैं। इससे कोरोना का संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है। सभी बच्चों को अपने घरों पर भी माता पिता और अन्य परिवारजनों को मास्क पहनकर ही बाहर निकलने के लिए प्रेरित करना चाहिए। मैं अपने परिजनों को बिना मास्क पहने घर से बाहर नहीं जाने देती।

- नम्रता मीणा, छात्रा, विदिशा

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020