गंजबासौदा(नवदुनिया न्यूज) गंजबासौदा ब्लॉक अंतर्गत में शासन द्वारा बीपीएल, एपीएल सहित अन्य वर्गों से राशन प्राप्त करने वाले लोगों को पात्रता पर्ची न मिलने और थोकबंद नाम काटे जाने के बाद से परेशानी खड़ी हो गई है, लोग राशन दुकान, नगरपालिका और ग्राम पंचायतों के चक्कर लगाने मजबूर हो रहे हैं, जबकि जानकारी के अभाव में लोग परेशान हो रहे हैं।

खाद्य विभाग, नगरीय निकायों एवं ग्राम निकायों के सर्वे के आधार पर शासन ने गंजबासौदा अनुविभाग में करीब 32 हजार से ज्यादा पात्र लोगों के नाम बीपीएल और एपीएल सूची से काट दिए। हालाकि दोबारा अवसर देते हुए दस दिन का समय दिया था, लेकिन इस दौरान अंचल में केवल एक प्रतिशत लोगों ही तहसीलदार के समक्ष दावा आपत्ति दर्ज कराने पहुंचे। जैसे ही पात्र लोग राशन दुकानों पर पहुंचे तो उन्हें पता चला कि उनका नाम पात्रता सूची से गायब हो चुका है, इसके बाद लोगों में घबराहट देखी जा रही है।

ब्लाक में 32 हजार से ज्यादा नाम काटे गए

गंजबासौदा ब्लाक अन्तर्गत हुए सर्वे के मुताबिक शहर में 7859 एवं ग्रामीण अंचलों में 24788 पात्र लोगों के नाम सस्ते राशन प्राप्त करने सहित अन्य सुविधाओं की योजना के हितग्राही सूची से काट दिए गए। जिसको लेकर शासन ने सूचियों को नगरीय निकाय एवं ग्राम पंचायत स्तर पर चस्पा किया गया और दावे आपत्ति के लिए तहसीलदार के समक्ष उपस्थित होने के लिए समय दिया। करीब एक प्रतिशत लोगों ने ही दावे आपत्ति दर्ज कराई गई। इस कारण बाकी लोगों के नमा जोड़ने की प्रक्रिया से पात्र हितग्राही वंचित हो गए। शिवनारायण सेन बताते हैं कि उन्हें पता ही नहीं चला कि उनके परिवार का नाम पात्रता पर्ची से काट दिया गया है। ऐसे में कभी खाद्य विभाग तो कभी नगरपालिका के चक्कर लगा रहे हैं। तहसीलदार के पास निराकरण की जानकारी भी उपभोक्ताओं को नहीं मिल सकी। जब हितग्राही राशन की दुकान पर गए तब पता चला कि उनको राशन नहीं मिल पाएगा।

नए नियमों ने खोले सुधार के रास्ते

शासन द्वारा पात्र लोगों से ग्राम पंचायत सचिव और नगरपालिका में सम्बंधित शाखा में पहुंचकर समस्त दस्तावेजों के साथ अनुशंसा कराने की सुविधान प्रदान की है। ग्राम सचिव और नगरपालिका अधिकारी उन्हें जानते हैं, इसकी पुष्ठि की जाएगी। साथ ही अन्य आईडी से लाभ न लेने का सत्यापन प्रामाणिक तौर पर किया जा सकेगा। इससे पात्र परिवार को भी सुविधा स्थानीय स्तर पर मिल पाएगी। यदि सचिव काम नहीं करते तो परिवार सरपंच जन प्रतिनिधि से शिकायत कर सकते हैं। यदि सत्यापन स्थानीय निकाय से नहीं हुआ है तो ऐसी शिकायतों को स्थानीय निकाय को ट्रांसफर करेंगे और खाद्य विभाग अधिकारी निराकरण दर्ज करेंगे।

जमा कर सकते हैं दस्तावेज

शहर में 7 हजार एवं ग्राम स्तर पर करीब 24 हजार से ज्यादा पात्रता पर्ची से नाम निरस्त करने की कार्रवाई की थी, जिसके समाधान के लिए पात्र हितग्राहियों को नगरपालिका और ग्राम पंचायत सचिव के पास पहुंचकर समस्त वैध दस्तावेजों का प्रस्तुत करना होगा।

- मीना सोनी, कनिष्ठ खाद्य आपूर्ति अधिकारी, गंजबासौदा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस