रायसेन, बेगमगंज (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में कोरोना की तीसरी लहर आने के भय से लोग वैक्सीन का टीका लगवाने के लिए उमड़ रहे हैं। शहर ही नहीं ग्रामीण क्षेत्रों में भी बड़ी संख्या में टीकाकरण केंद्रों पर लोगों की कतार नजर आ रही है। वैक्सीन का प्रथम एवं द्वितीय डोज लगवाने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों के लोग अब शहर में भी पहुंचने लगे हैं। जिसके कारण केंद्रों पर भीड़ लग रही है। महिलाओं व पुरुषों की कतार हुई है। बारिश के बावजूद लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। बेगमगंज के प्राथमिक शाला गंभीरिया केंद्र पर लगी लंबी कतार के बावजूद कुछ लोग जबरन केंद्र के अंदर घुस गए। परेशान होकर कम्प्युटर आपरेटर ने काम बंद कर दिया और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने लोगों को केंद्र के बाहर करके कतार में लगवाया। महिला- पुरुषों की अलग-अलग कतार लगवाकर टीकाकरण कार्य शुरू हो सका। भीड़ को पर्चियां नहीं देने के कारण आई समस्या। उपस्थित लोगों ने अधिकारियों से कहा कि जितने डोज हैं उतनी पर्चियां नंबर के हिसाब से लाइन में लगे महिला- पुरुषों को दे दी जाएं। ताकि लोग रिमझिम बारिश से बचने के लिए पर्चियां लेकर सुरक्षित स्थान पर बैठ सकें और नंबर आते ही अपना पंजीयन कराकर वैक्सीन लगवा सकें। लेकिन उपस्थित लोगों ने अपनी असमर्थता जाहिर की और अपनी बात वरिष्ठ अधिकारियों को भेजने को कहा। वैक्सीनेशन प्रभारी बीपीएम जय सिंह का कहना है कि आगामी दिनों में अंदर के साथ-साथ बाहर खड़े लोगों के लिए टोकन व्यवस्था कराने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा की जाएगी अभी पंजीयन उपरांत टोकन दिया जा रहा है।

- मंडीदीप, औबेदुल्लागंज क्षेत्र में विशेष नजर-

कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए प्रशासन का सर्वाधिक ध्यान मंडीदीप व औबेदुल्लागंज क्षेत्र में है। क्योकि यहां बाहर से आने वाले मजदूरों से संक्रमण फैलने की आशंका बनी रहती है। बड़ी संख्या में मंडीदीप व औबेदुल्लागंज में बाहर से आकर मजदूर निवास करते हैं। औद्योगिक क्षेत्र होने के कारण यहां व्यापारिक कार्यों से भी लोगों का आवागमन बना रहता है। दूसरी लहर में सर्वाधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज मंडीदीप व औबेदुल्लागंज क्षेत्र में भी मिले थे।

-अभी कोचिंग संस्थान खोलने के आदेश नहीं

बेगमगंज। कोविड गाइडलाइन में अभी कोचिंग सेंटर खोलने के आदेश नहीं हैं। बावजूद उसके शहर में करीब दो दर्जन स्थानों पर अवैध रूप से कोचिंग संचालित किए जा रहे हैं। हैरानी इस बात की है कि कुछ शासकीय स्कूलों में पदस्थ शिक्षक भी कोचिंग सेंटरों में पढ़ा रहे हैं। कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन कर जिन क्षेत्रों में कोचिंग संचालित किए जा रहे हैं उनमें दीनदयाल कॉलोनी, हनुमान बाग, दशहरा मैदान, एसबीआई कॉलोनी, टीचर कॉलोनी, रामनगर डिपो कॉलोनी, फर्सी रोड, दिग्विजय कॉलोनी आदि प्रमुख हैं। कुछ शिक्षक तो इन कोचिंग सेंटर में पढ़ाई के लिए दवाब बनाते हैं और बगैर सुविधा के क्षमता से अधिक बच्चों को बिठाकर शिक्षा का कारोबार कर रहे हैं। एक शिफ्ट में 50 बच्चों को पढ़ाया जा रहा है।. कोरोना की तीसरी लहर को लेकर केंद्र व राज्य सरकार बचाव की तैयारी में जुटी हुई है वही नगर के कोचिंग सेंटर जो बिना अनुमति के चल रहे हैं उनमें एक शिफ्ट में 50 से अधिक बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। कोचिंग सेंटरों का संचालन कर रहे लोगों ने ना तो संख्या को आधा किया है। और ना ही संक्रमण से बचने के कोई उपाय किए हैं। बगैर अनुमति के इस तरह कोचिंग सेंटर संचालित करने से शिक्षा विभाग के अधिकारियों पर भी सवाल खड़े होते हैं। इस संबंध में ब्लॉक शिक्षा अधिकारी नारायण साहू का कहना है कि मुझे अभी कुछ दिन पहले ही प्रभार मिला है यह सही है कि शहर में जो भी कोचिंग सेंटर चल रहे हैं वह अवैध हैं संचालित अगर पाए जाएंगे तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। कोविड गाइडलाइन के अनुसार अभी कोचिंग खोलने की अनुमति नहीं है।

----

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags