गंजबासौदा(नवदुनिया न्यूज)। नवदुर्गा महोत्सव का समापन आज दशहरे के पर्व के साथ होगा। नवीन बस स्टैंड स्थित मेला परिसर में रावण के पुतले का दहन और मुख्य आयोजन हिंदू उत्सव समिति के द्वारा आयोजित किया जाएगा। वही प्रशासन ने देवी प्रतिमाओं के विसर्जन को लेकर एक दिन पहले ही पूरी तैयारी कर ली है। आज दोपहर से ही प्रतिमाओं का विसर्जन शुरु हो जाएगा जो देर रात तक जारी रहेगा। विसर्जन के दौरान यातायात में कोई परेशानी न हो इसके लिए यातायात पुलिस द्वारा जय स्तंभ से लेकर बेतवा नदी तक के मार्ग को वन वे किया है।

दुर्गा महोत्सव के दौरान शहर में करीब 100 स्थानों पर लगे झांकी के पंडालों में विराजमान मां दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन आज विजयादशमी के अवसर पर किया जाएगा। देवी प्रतिमाओं का विसर्जन बेतवा के रिपटा घाट, गंज घाट और बर्री घाट पर किया जाएगा, लेकिन अधिकांश प्रतिमाएं बेतवा नदी के पुल से विसर्जित होंगी। इसके लिए स्थानीय प्रशासन द्वारा एक दिन पहले ही पूरी तैयारी कर ली गई है।

गुरुवार को बेतवा के गंज घाट पर प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए कुंड बनाया गया और कुंड तक जाने के लिए अस्थाई रास्ता भी बनाया गया है। बेतवा पुल के दोनों ओर लोहे की रैलिंग लगाई गई ताकि मूर्ति विसर्जन के दौरान कोई परेशानी नहीं हो और उस क्षेत्र में विद्युत व्यवस्था भी की गई। विजयादशमी के दिन नवीन बस स्टैंड स्थित मेला ग्राउंड पर मुख्य आयोजन और रावण के पुतले का दहन किया जाएगा इसके लिए भी नगर पालिका द्वारा मेला ग्राउंड पर आयोजित होने वाले आयोजन को लेकर गुरुवार को बैरिकेड लगाकर सड़क की मरम्मत कर व्यवस्था की गई है।

बॉक्स

आज जयस्तंभ से बेतवा नदी तक का मार्ग रहेगा वन वे

यातायात प्रभारी रितेश बघेला ने बताया कि आज विजयादशमी के दिन प्रतिमा के विसर्जन के लिए सभी ट्रेक्टर ट्रालियों को जय स्तंभ से सावरकर चौक,सिरोंज चौराहे हाते हुए सीधे बेतवा नदी के पुल तक भेजा जाएगा। प्रतिमा विसर्जन के बाद ट्रेक्टर ट्रॉली को सीधे अम्बा नगर भेज जाएगा वहां से जोहद गिरोद होते हुए जेल रोड के रास्ते सभी ट्रेक्टर ट्रॉली को शहर में आने दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस दौरान यदि कोई एम्बुलेंस या अन्य जरूरी वाहन आते है तो उन वाहनों को बेतवा पुल से निकलवाने की व्यवस्था भी की गई है। बघेला ने बताया कि विजयादशमी के दिन कोतवाली और देहात थाने के पुलिस बल के साथ दस जवानों का अन्य बल भी दशहरे की ड्यूटी में लगाया गया है।

तीस फीट के रावण के पुतले का होगा दहन

दशहरा उत्सव के लिए प्रशासन और हिंदू उत्सव समिति ने लगभग पूरी तैयारियां कर ली हैं। हिंदू उत्सव समिति द्वारा इस बार तीस फीट के रावण के पुतले का दहन किया जाएगा। कोरोना गाइडलाइन के कारण मेला ग्राउंड में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं होंगे। लेकिन प्रशासन ने भगवान राम की बारात निकालने की अनुमति दे दी है। हर साल की तरह इस साल भी रावण दहन से पहले श्रीराम की बारात निकाली जाएगी। जो पठार मोहल्ले से शाम 6 बजे शुरु होकर शहर के मुख्य मार्गों से होती हुई मेला परिसर पहुंचेगी। रात करीब 8 बजे भगवान राम के पूजन अर्चन के बाद तीस फीट ऊंचे रावण के पुतले का दहन किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local