विदिशा/ कुरवाई। जिले में रबी सीजन की बोवनी शुरू होते ही खाद की किल्लत शुरू हो गई है।किसानों को डीएपी खाद के लिए भटकना पड़ रहा है। अब तहसील से लेकर गांवो तक मे किसानों का आक्रोश बढ़ने लगा है। कांग्रेस सहित अन्य संगठनों ने आंदोलन भी शुरू कर दिए है। शुक्रवार को डीएपी खाद की आपूर्ति की मांग को लेकर युवा कांग्रेस ने गंजबासौदा और कुरवाई में ज्ञापन और धरना दिया। जिले में अधिकारी खाद की कमी से इनकार कर रहे है और ग्रामीण क्षेत्रों में सहकारी समितियों से किसानों को खाद नही मिल रहा। समिति संचालक उन्हें खाद नही आने की बात कह रहे है। किसान खाद के लिए समितियो पर परेशान हो रहे है। शहर से लगे सुआखेड़ी सहकारी समिति पर किसानों को एक बोरी डीएपी और एक बोरी यूरिया दिया जा रहा है जबकि किसानों को अधिक खाद की जरूरत है।जानकारी के अनुसार इस समिति से सात सौ किसान जुड़े हुए है। उन्हें रबी सीजन में 300 टन डीएपी एंव 300 टन यूरिया की जरूरत है लेकिन अभी तक समिति को मात्र 25 टन डीएपी और यूरिया मिल पाया है। यही स्थिति जिले की सभी सहकारी समितियों की है। सहकारी समितियों से खाद नही मिलने के कारण किसान महंगे दाम पर निजी दुकानों से खाद खरीद रहे है।शुक्रवार को शहर की निजी दुकानों पर खाद खरीदने के लिए किसानों की भीड़ लगी रही। इधर, जिला मार्केटिंग अधिकारी किरण झाड़े का कहना है कि जिले में खाद की कमी नही है। शनिवार और रविवार को यूरिया तथा डीएपी की एक- एक रैक आने वाली है। सभी किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद दिया जाएगा।

युवा कांग्रेस ने धरना देकर सौंपा ज्ञापन

खाद की कमी को लेकर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को मेहलुआ चौराहे पर धरना देकर कलेक्टर के नाम ज्ञापन पुलिस चौकी प्रभारी को सौंपा, जिसमे किसानों को पर्याप्त मात्रा में डीएपी खाद उपलब्ध कराने की मांग की गई है। इस मौके पर युवा कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप रघुवंशी, गोविंद सिंह दांगी, निर्भय सिंह यादव,शिवनारायण दुबे सहित अन्य नेता मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local