विदिशा। अखंड सुहाग की कामना के साथ कल रविवार को धूमधाम से करवा चौथ का त्योहार मनाया जाएगा। ज्योतिष के अनुसार इस बार करवाचौथ पर विशेष संयोग बन रहे है, जिसमें सूर्य प्रधान रोहिणी नक्षत्र में करवाचौथ का चांद निकलेगा। रविवार का दिन भी सूर्य का माना जाता है, इसलिए इस त्योहार को खास माना जा रहा है। ज्योतिषियों का कहना है कि इस करवाचौथ पर व्रत रखने वाली महिलाओं को चंद्रमा के साथ साथ सूर्यदेव का आशीर्वाद भी मिलेगा। ज्योतिषियों का कहना है कि करवा चौथ पर महिलाएं अपने सुहाग की रक्षा के लिए दिन भर निर्जला व्रत रखेगी।रात में चन्द्रदर्शन और पूजन के साथ इसका समापन होगा। पंडित संजय पुरोहित के मुताबिक इस वर्ष करवाचौथ रविवार को पड़ रहा है। इस दिन का स्वामी सूर्य होता है। वर्तमान में सूर्य तुला राशि मे नीच का है।सांयकालीन गोचर में सूर्य पति के स्थान पर ही अवस्थित होगा, इसलिए चंद्रमा को अर्घ्य देते समय सूर्य सम्बन्धी मंत्र का उच्चारण अवश्य करना चाहिए।पुरोहित के मुताबिक रोहिणी नक्षत्र में चन्द्र को अर्घ्य देने से पति- पत्नी के रिश्ते में मधुरता बढ़ती है।जिन महिलाओं के दाम्पत्य जीवन मे कलह हो तो उन्हें सूर्य मंत्र के साथ अर्घ्य देकर चावल का दान करना चाहिए। ज्योतिषियों का कहना है कि इस बार विशेष संयोग वाला करवाचौथ का पर्व पति- पत्नी के बीच प्रेम और मधुरता बढ़ाने वाला होगा।

त्योहार को लेकर बाजार में रौनक

दिवाली से पहले बाजार में करवाचौथ की खरीदारी जोरों पर है।बाजार में जगह जगह रंगबिरंगी करवे और अन्य पूजन सामग्री की दुकानें सज गई है। इस दिन के लिए कपड़ों के अलावा ज्वेलरी की खरीदी भी अच्छी हो रही है। ब्यूटी पार्लरों में वेटिंग की स्थिति चल रही है। रविवार के लिए पहले ही बुकिंग हो चुकी है। शहर में इस त्योहार को लेकर महिलाओं में काफी उत्साह देखा जा रहा है। कोरोना का डर खत्म होने के बाद लोग इसे अच्छे से मनाने की तैयारी में है। पंजाबी समाज द्वारा गुरुद्वारे में सामूहिक आयोजन होगा, जिसमें बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल होगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local