विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)। कर्मकार मंडल के तहत विवाह सहायता योजना में गोलमाल करने वाले सिरोंज जनपद सीईओ शोभित त्रिपाठी पर धोखाधड़ी सहित कई धाराओं में मामला दर्ज हो गया है। सिरोंज सहायक श्रम पदाधिकारी आशीष संतोरे के आवेदन पर सिरोंज थाना पुलिस ने आरोपित सीईओ शोभित त्रिपाठी पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सिरोंज में जनपद सीईओ रहे शोभित त्रिपाठी ने कर्मकाल मंडल योजना के तहत विवाह सहायता राशि देने में बड़ी गड़बड़ी की, कई अनियमितताएं पाई गईं। सिरोंज थाना प्रभारी गिरीश दुबे ने बताया कि साल 2019, 2020 और 2021 में योजना के तहत आवेदन करने वाले हितग्राहियों के खाते में विवाह सहायता योजना की राशि पहुंची ही नहीं। ये बात प्रथम दृष्टया जांच में पाई गई।ये राशि कहां गई इसकी जांच होगी। पुलिस ने शोभित त्रिपाठी पर धोखाधड़ी की धारा 420, लोकसेवक द्वारा गबन करने की धारा 409, कूटरचित दस्तावेज तैयार करना, फर्जी दस्तावेज तैयार करने की धारा 467, 468, 469 और 471 के तहत मामला दर्ज कर जांच में लिया है। गौरतलब है कि कलेक्टर के निर्देश के बाद जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने जांच की जिसके बाद सोमवार को आरोपित सीईओ को निलंबित किया गया था। जिपं सीईओ भरसट ने कहा कि जांच रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपी है, इसमें राज्यस्तरीय जांच चल रही है इसलिए उनकी जांच में क्या अनियमितताएं मिली इसबारे में वे ज्यादा जानकारी नहीं दे सकते। आपको बतादें कि सिरोंज में विवाह सहायता राशि में गड़बड़ी का मामला क्षेत्रीय विधायक उमाकांत शर्मा ने विधानसभा में तक उठाया था जिसके बाद इसकी जांच हुई।

होशंगाबाद से आईं नवागत सीईओ

शोभित त्रिपाठी के निलंबन के बाद होशंगाबाद से नवागत सीईओ वंदना शर्मा ने सिरोंज में पदभार संभाला। वंदना शर्मा विदिशा जनपद पंचायत भी सीईओ रह चुकी हैं। सिरोंज में पहले दिन उन्होंने जनपद के अधिकारी-कर्मचारियों की बैठक ली। उन्होंने सभी कर्मचारियों को मुख्यालय पर रहने के निर्देश दिए। साथ उन्होने कहा कि धरातल पर शासन की कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन करें। जिससे पात्र हितग्राही तक योजनाओं का लाभ पहुंच सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local