विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में कोरोना की रफ्तार 15 गुना तेजी से बढ़ रही है। 8 दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या 100 के पार पहुंच गई थी। वर्तमान में 136 एक्टिव मरीज हैं लेकिन तब भी लोग कोरोना को लेकर सतर्क नहीं दिख रहे हैं। शहर में बाजार से लेकर सार्वजनिक आयोजनों में भी लोग बिना मास्क के दिखाई दे रहे हैं। प्रशासन ने भी अभी तक सख्ती बरतना शुरू नहीं किया है जिसके चलते कोरोना संक्रमण घर-घर पहुंचने का खतरा बना हुआ है। शादियों का सीजन जैसे जैसे सामने आ रहा है, बाजार में भीड़ बढ़ती जा रही है। ये चिंताजनक बात इसलिए है कि भीड़ में ज्यादातर लोग मास्क के बिना ही नजर आ रहे हैं वहीं शारीरिक दूरी का पालन भी नहीं हो रहा। ऐसे में संक्रमण की रफ्तार और बढ़ने की आशंका लग रही है। 31 दिसंबर को केवल एक ही मरीज सामने आया था लेकिन देखते ही देखते 9 दिनों में संक्रमितों की संख्या 136 पहुंच गई। संक्रमण किस गति से फैल रहा है उसका अंदाजा इससे लगाइए कि 6, 7 एवं 8 जनवरी को यानि तीन दिनों में 102 मरीज मिले हैं। अकेले विदिशा शहर में ही पांच दिनों में 86 मरीज मिले हैं। आंकड़े साफ बताते हैं कि संक्रमण ने रफ्तार पकड़ रखी है यदि समय रहते लोग और ज्यादा सतर्क नहीं हुए तो हालात बेकाबू हो सकते हैं।

स्कूल, कालेज और अस्पताल में पहुंचा कोरोना

विदिशा सहित सिरोंज, बासौदा, ग्यारसपुर, कुरवाई और नटेरन में भी संक्रमण फैल चुका है। स्कूल, कॉलेज, अस्पताल और सरकारी दफ्तरों सहित हर क्षेत्र में संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। बासौदा में स्कूली छात्र संक्रमित हुए तो त्योंदा में तहसीलदार और एक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। इसके अलावा बासौदा में अस्पताल के कर्मचारी भी पॉजिटिव हुए। विदिशा मेडिकल कॉलेज के 15 छात्र संक्रमित हो चुके हैं। सार्वजनिक स्थानों पर कोरोना के मरीज मिलना चिंताजनक है।

हर रोज मिल रहे औसतन 15 मरीज

शनिवार को 35 नए मरीज मिले ये सभी विदिशा शहर के ही हैं। तीन जनवरी के बाद से केवल शहर में ही मरीजों की संख्या 86 हो गई। इसी के साथ कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 136 हो चुकी है। औसत देखा जाए तो 31 दिसंबर से अब तक हर रोज 15 मरीज मिल रहे हैं। पूरे जिले में सबसे अधिक विदिशा शहर में 86 मरीज मिले इसके बाद बासौदा में 44 मरीज सामने आ चुके हैं। विदिशा और बासौदा शहरी आबादी वाले क्षेत्रों में संक्रमण बढ़ने से ग्रामीण इलाकों में भी संक्रमण फैलने की आशंका है क्योंकि ज्यादातर ग्रामीण शहरों में बाजार करने पहुंच रहे हैं।

जीनोम सिक्वेंसिंग रिपोर्ट का इंतजार

कोरोना संक्रमितों में किस वैरिएंट के मरीज आ रहे हैं इसकी जांच के लिए जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जा रही है। जिला महामारी अधिकारी डॉ शोएब खान ने बताया कि 19 सैंपलों को मेडिकल कॉलेज के माध्यम से दिल्ली जांच के लिए भेजा गया है। वहां से रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा कि विदिशा में आए संक्रमितों में ओमिक्रोन है या नहीं। डॉ शोएब के अनुसार दूसरी लहर के दौरान विदिशा से 101 लोगों के सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे थे जिनमें से 24 में डेल्टा वैरिएंट पाया गया था जो ज्यादा घातक था।

अब दिखाई सख्ती, 30 के बनाए चालान

दिसंबर के आखिरी सप्ताह में कलेक्टर ने बिना मास्क वालों के खिलाफ चालानी कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे जिसके बाद अब स्थानीय पुलिस व प्रशासन ने सख्ती करना शुरू किया है। शनिवार को तहसीलदार सरोज अग्निवंशी और कोतवाली थाना प्रभारी अशुतोष सिंह ने बाजार में घूमकर बिना मास्क वालों पर कार्रवाई की। इस दौरान 30 राहगीरों से 100-100 रुपये का जुर्माना वसूला गया। टीम ने दुकानों के अंदर जाकर भी जांच की। इस दौरान एक कपड़ा व्यापारी का भी चालान बनाया गया।

मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों में बढ़ रहा संक्रमण

मेडिकल कॉलेज में संक्रमण बढ़ रहा है। यहां एमबीबीएस के 15 छात्र संक्रमित हो चुके हैं। बताया जा रहा है कि छात्रों ने एक रेस्टोरेंट में पार्टी की थी जिसके बाद कॉलेज के करीब 400 बच्चों पर संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। डीन डॉ सुनील नंदेश्वर का कहना है कि अभी कक्षाएं आनलाइन रखने के कोई निर्देश नहीं आए हैं लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से थ्योरी क्लासेस आनलाइन ली जा रही है। प्रेक्टिकल के कोविड गाइडलाइन का पालन कराया जा रहा है। संक्रमित छात्रों के पहले संपर्क वालों के सैंपल लिए जा रहे हैं इसके बाद अन्य छात्रों के लिए सैंपल लेंगे।

संक्रमितों में 6 से 15 वर्ष तक के बच्चे

छोटे छोटे बच्चे भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। शनिवार को आए संक्रमितों में पूरनपुरा में 6 साल की एक बच्ची, मेडिकल कॉलेज के स्वास्थ्य कर्मचारी की 7 साल की बेटी और 11 साल एक बेटा भी पॉजिटिव हो गया है। इसके अलावा गुलाबगंज में 31 दिसंबर को एक 15 साल की किशोरी संक्रमित हुई थी। पूरनपुरा में ही 17 साल का एक किशोर संक्रमित हुआ है।

क्षेत्र में पुलिस को भी सक्रीय कर दिया है, वह बिना मास्क वालों पर चालानी कार्रवाई कर रही है। थाना स्तर पर अलग अलग टीम अब रोजाना बाजार में, सार्वजनिक स्थानों पर बिना मास्क के घूमने वालों से जुर्माना वसूलेगी।

- विकास पांडे, सीएसपी विदिशा

हमने बिना मास्क के घूमने वालों पर 100 रुपये जुर्माना वसूलने की कार्रवाई शुरू करा दी है। बाजार सहित शहर में सभी सार्वजनिक स्थानों पर कोरोना गाइडलाइन तोड़ने वालों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए हैं, सतर्कता बरती जा रही है।

- गोपाल वर्मा, एसडीएम विदिशा

विदिशा सहित जिले के दूसरे क्षेत्रों में भी संक्रमण फैल रहा है लोगों को सतर्कता बरतने की जरूरत है। कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करके ही बचा जा सकता है। भीड़ से दूर रहना, मास्क पहनना, हाथों को सैनिटाइज करते रहना जरूरी है।

- डा. अखंडप्रताप सिंह, सीएमएचओ विदिशा

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local