विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)। लटेरी थाना अंतर्गत ग्राम नेवली निवासी रामकिशन आदिवासी की हत्या उसके ही साले ग्राम धनवास निवासी मलखानसिंह ने की थी। ठीक नौ दिन बाद बुधवार को पुलिस ने इस हत्या का खुलासा कर दिया है। हत्या का कारण रुपयों का लेनदेन बताया जा रहा है। ग्राम नेवली निवासी मृतक के भाई हजरतसिंह आदिवासी ने बताया कि उसका भाई पिछले छह साल से अपनी ससुराल धनवास में रह रहा था। 8 मई को वह साले मलखान के साथ मोटर साइकल से अपनी बीमार मां को देखने आया था। मां से मिलने के बाद रात को करीब 8 बजे दोनों साले-बहनोई धनवास के लिए निकले थे, लेकिन सुबह 9 मई को मृतक की ससुराल से फोन आया था कि वह दोनों जमोनियाकलां के शिवराजसिंह के खेत में घायल अवस्था में पड़े हैं। तुरंत दोनों को अस्पताल पहुंचाया जहां रामकिशन को डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। जबकि घायल अवस्था में मलखान को उपचार के लिए भोपाल भेजा गया था। स्वजनों से पूछताछ के बाद मुखबिर से मिली सूचना पर पुलिस ने साले को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने रूपयों के लेनदेन पर से विवाद होना बताया। टीआई कमलेश कुशवाह ने आरोपित मलखान के हवाले से बताया कि उसके 12 हजार रुपये जीजा के पास थे। रास्ते में जब उसने रूपये मांगे तो जीजा ने उसे 5 हजार 500 रुपये दे दिए। बांकी रूपये उसने लटेरी में खर्च होने की बात कही। इसी बात से दोनों में विवाद हुआ और मलखान ने रामकिशन पर पत्थर से हमला कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई। आरोपित के बताए मुताबिक घटना में प्रयुक्त पत्थर और रुपये भी बरामद कर लिए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close