विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)। करारिया थाना क्षेत्र अंतर्गत विवेक वेयरहाउस में एक मजदूर पर गेहूं से भरी बोरियां फिसल गईं जिससे उसकी मौत हो गई। मजदूर की मौत के बाद उसके स्वजनों और साथी मजदूरों ने करारिया में चक्का जाम कर दिया। जानकारी के अनुसार करारिया गांव निवासी 27 वर्षीय मोनू उर्फ मोहनसिंह अहिरवार रविवार को विवेक वेयरहाउस में ट्रकों से गेहूं की बोरियां उताकर वेयरहाउस के अंदर रख रहा था, इसी बीच अचानक बोरियों का एक स्टेक फिसल गया। गेहूं से भरी बोरियां मोनू के ऊपर गिर गईं। मौके पर मौजूद मजदूरों ने बोरियां हटाकर उसे बाहर निकाला। उसे भोपाल ले जाया गया जहां सोमवार को उसकी मौत हो गई। दोपहर में उसका शव घर लेकर आ रहे स्वजनों ने करारिया में एंबुलेंस खड़ी करके चक्काजाम कर दिया। मृतक के चाचा बेनीप्रसाद अहिरवार ने कहा कि उसे घर से जबरन काम कराने ले गए थे। वहीं स्वजन इस बात से भी नाराज थे कि वेयरहाउस के संचालक ने भोपाल अस्पताल में उसका एक्सीडेंट होना बताया। करारिया थाना प्रभारी अरुणा सिंह ने बताया कि भोपाल में मर्ग कायम हुआ है हमने भोपाल से डायरी मंगाई है जांच करेंगे। मौके पर तहसीलदार केएन ओझा भी पहुंचे। उन्होंने जांच का आश्वासन दिया तब जाकर लोग सड़क से हटे। तहसीलदार ने बताया कि वेयरहाउस में सरकारी गेहूं खाली हो रहा था, तभी बोरियां फिसल गईं। वेयरहाउस चैनसिंह दांगी की पत्नी के नाम है। घटना के वक्त 40 मजदूर काम कर रहे थे, वेयरहाउस के मालिक की कार से उसे इलाज के लिए तुरंत भोपाल अस्पताल ले जाया गया था।

आर्थिक सहायता की मांग

मृतक मजदूर मोनू के दो छोटे बच्चे हैं। उसके एक भाई ने कुछ समय पहले आत्महत्या कर ली थी, उसके बाद मोनू ही अपने माता पिता का भरण पोषण कर रहा था। उसकी मौत के बाद परिवार में कोई भी कमाने वाला नहीं बचा। साथी मजदूरों को उसके परिवार को आर्थिक सहायता देने की मांग की। तहसीलदार ओझा ने कहा कि हमने वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया है जो संभव होगा मदद की जाएगी।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close