विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)। सहकारी समिति के एक प्रबंधक के वेतन का भुगतान नहीं करने पर सोमवार को न्यायालय के आदेश पर जिला सहकारी बैंक की ठर्र शाखा में कुर्की की कार्रवाई की गई। इस दौरान न्यायालय के कर्मचारी बैंक से कुर्सी, टेबल, सोफा और नोट गिनने की मशीन कुर्क कर ले गए। जानकारी के अनुसार ठर्र शाखा के अधीन आने वाली सौंथर सहकारी समिति के प्रबंधक महाराज सिंह धाकड़ पर बैंक ने साढ़े सोलह लाख रुपये की गड़बड़ी का आरोप लगाया था। इस दौरान उनका वेतन रोक दिया था। जिसके बाद धाकड़ ने उप पंजीयक सहकारी संस्था कार्यालय में जांच के लिए आवेदन दिया था। इस जांच में उन्हें क्लीन चिट दे दी गई। इसके बाद सहकारी समिति ने वेतन की बकाया राशि 4 लाख 76 हजार रुपये का चेक उन्हें दे दिया था।जब यह चेक भुगतान के लिए बैंक में जमा किया तो बैंक ने भुगतान करने से मना कर दिया।धाकड़ ने यह प्रकरण न्यायालय में प्रस्तुत कर दिया । यहां सुनवाई के बाद न्यायालय ने बैंक को निर्देश दिए थे कि धाकड़ को वेतन राशि का भुगतान किया जाए।जब राशि का भुगतान नहीं किया गया तो न्यायालय ने कुर्की आदेश जारी कर दिए।इधर, जिला सहकारी बैंक के सीइओ विनय प्रकाश सिंह का कहना हैं कि धाकड़ ने समिति प्रबंधक रहते सात लोगों को साढ़े सोलह लाख रुपये का फर्जी ऋण बांट दिया था।जांच के बाद यह गबन सिद्ध पाया गया। धाकड़ ने शासन की ऋण माफी योजना के तहत इस ऋण को जमा होना भी बता दिया। सिंह का कहना था कि समिति प्रबंधक ने दोहरा गबन किया हैं। इसी के चलते उनका वेतन रोका गया था। न्यायालय की कुर्की के सवाल पर उनका कहना था कि बैंक न्यायालय में अपना पक्ष रखेंगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close