विदिशा ( नवदुनिया प्रतिनिधि)। भोपाल -सागर राष्ट्रीय राजमार्ग 146 पर फैला अतिक्रमण जानलेवा साबित हो रहा हैं। मंगलवार की सुबह ग्राम अटारी खेजड़ा में देहलवाडा तिराहे पर एक यात्री बस अनियंत्रित होकर सड़क के किनारे घुस गई। यहां ग्यारसपुर तहसीलदार सिद्धार्थ सिघला अपनी गाड़ी के साथ खड़े थे। वे इस दुर्घटना में वे बाल - बाल बच गए। उनके ड्राइवर और एक अन्य मोटर साइकिल चालक को हल्की चोटें आई हैं। तहसीलदार सिंघला ने बताया कि मंगलवार को वे मानौरा मेले की तैयारियों के लिए क्षेत्र के भ्रमण पर निकले थे। ग्राम अतारीखेजडा में वे सड़क के किनारे गाड़ी खड़ी कर करीब दस फीट दूर ग्रामीणों से बात कर रहे थे।इसी दौरान विदिशा से सागर जा रही राम बस सर्विस की यात्री बस अनियंत्रित होकर उनके वाहन से टकरा गई। इस दौरान ड्राइवर लक्ष्‌मण प्रजापति वाहन के पास ही खड़ा था। बस उसको टक्कर मारते हुए रुक गई।इस दौरान बस की चपेट में एक मोटर साइकल चालक भी आ गया। इन दोनों को चोट आई हैं।उन्होंने बताया कि घटना के बाद उन्होंने स्थानीय पुलिस चौकी में सूचना दी। बस में सवार यात्रियों को दूसरी बस से रवाना किया और बस को पुलिस ने जप्त कर लिया। तहसीलदार सिद्धार्थ का कहना था कि बस इतनी तेजी से सड़क किनारे घुसी कि वे कुछ समझ ही नहीं पाए। शुक्र रहा कि कोई अनहोनी नहीं हुई।उन्होंने ग्रामीणों के हवाले से बताया कि जिस जगह उनका वाहन खड़ा था वहां सुबह के समय बड़ी संख्या में लोग हाथ ठेलों पर सामग्री लेने के लिए खड़े रहते हैं। यदि उनकी गाड़ी खड़ी नहीं होती और वहां भीड़ रहती तो बड़ा हादसा हो सकता था।

अतिक्रमण के कारण बनी स्थिति

इस राजमार्ग पर जगह - जगह अतिक्रमण फैला हुआ हैं।नवदुनिया ने राजमार्ग से अतिक्रमण हटाने के लिए अभियान भी शुरू किया हैं।इसी अभियान के तहत राजमार्ग पर अतिक्रमण की समस्या और बढ़ती दुर्घटनाओं को लेकर प्रथम पेज पर खबर भी प्रकाशित की थी लेकिन चुनावी व्यस्तता के कारण जिला प्रशासन ने अतिक्रमण हटाने की ओर कोई ध्यान नहीं दिया, जिसके चलते मंगलवार को यह घटना हो गई। इसी राजमार्ग पर स्थित ग्राम मानोरा में आगामी एक जुलाई को भगवान जगन्नााथ स्वामी की रथयात्रा और मेले का आयोजन हैं, जिसमें दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं के जुटने की संभावना हैं। यदि इसके पहले राजमार्ग से अतिक्रमण नहीं हटाया तो किसी बड़ी दुर्घटना का खतरा बना रहेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close