विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)। इस साल भले ही देरी से वर्षा शुरू हुई हो, लेकिन पिछले साल के बराबर ही आंकड़ा पहुंच गया है। पिछले साल 3 जुलाई तक जिले में 232 मिमी औसत वर्षा हुई थी, जबकि इस साल 208 मिमी औसत वर्षा हो चुकी है। रविवार को भी दोपहर में करीब आधे घंटे तक जोरदार वर्षा हुई। किसानों का कहना है कि जिन किसानों ने अभी हाल ही में बोवनी की है उन्हें यह हल्की-हल्की रुक-रुककर हो रही वर्षा लाभदायक है। बता दें कि इस साल सबसे अधिक वर्षा अभी तक गंजबासौदा में 287 मिमी हुई है। कुरवाई में 286 मिमी, गुलाबगंज में 242 मिमी, ग्यारसपुर में 237 मिमी, शमशाबाद में 204 मिमी, सिरोंज में 192 मिमी, लटेरी में 180 मिमी, विदिशा में 139 मिमी और पठारी मे सबसे कम 129 मिमी वर्षा हुई है। पिछले साल की अपेक्षा विदिशा तहसील में इस साल 40 फीसद ही वर्षा हुई है। पिछले साल विदिशा में सबसे अधिक 337 मिमी वर्षा हुई थी। इस संबंध में मौसम वैज्ञानिक सतेंद्रसिंह तोमर का कहना है कि फिलहाल अभी तीन दिन भारी वर्षा की संभावना नहीं है, लेकिन 20 से 50 मिमी वर्षा रोज होती रहेगी। उन्होंने किसानों को सलाह दी है कि अब जिन किसानों की बोवनी नहीं हुई है वह जल्दी आने वाली वैरायटी की बोवनी करें जिससे यदि मानसून जल्दी भी चला जाए तो उन्हें दिक्कत नहीं हो। इधर कृषि उप संचालक पीक चौकसे का कहना है कि जिले में 75 फीसद से अधिक किसान बोवनी कर चुके हैं। वर्तमान में जो वर्षा हो रही है वह फसल और किसान के अनुकूल हो रही है। वर्षा के बाद जो धूप निकलती है वह पौधों को लाभदायक है, वहीं एक से दो दिन रुककर वर्षा होने से से किसान बोवनी भी कर रहे हैं।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close