Vidisha News अजय जैन, विदिशा। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को परिवार नियोजन की जानकारी देने के लिए स्वास्थ्य एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा एक नई पहल शुरू की गई है। जिसमें सास-बहू सम्मेलन आयोजित कर उन्हें सांप सीढ़ी के खेल के लिए परिवार नियोजन के फायदे समझाए जा रहे हैं।

बुधवार को ग्यारसपुर विकासखण्ड के ग्राम माला में आयोजित सास बहू सम्मेलन में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने सांप सीढी के खेल के माध्यम से जनसंख्या स्थिरीकरण के उपायों की जानकारी दी। इस दौरान बताया गया कि कम उम्र में शादी नहीं करने तथा शारीरिक रूप से कमजोर बहू यदि गर्भवती हो जाती है तो बहू और आने वाले बच्चे के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है।

महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी बृजेश शिवहरे के मुताबिक इस नवाचार के लिए सांप सीढ़ी का एक अलग चार्ट बनाया गया है। जिसमें गर्भवती महिला की जांच से लेकर प्रसव तक की जानकारी नंबरों पर अंकित की गई है। सामान्य खेल की तरह ही इसे भी खेला जाता है। इस दौरान नियमित जांच नहीं होने, अधिक बच्चे होने के खतरे के लिए नंबर अंकित होते हैं।

इन नंबरों पर पहुंचते ही सांप सीढ़ी के खेल में प्रतिभागी नीचे के नंबरों पर आ जाता है। जिस पर महिलाओं को बताया जाता है कि अधिक बच्चे या गर्भवती महिला के प्रति लापरवाही बरतने पर इन नंबरों की तरह ही जीवन पर भी खतरा बढ़ जाता है। शिवहरे के मुताबिक ग्रामीण महिलाओं के बीच इस खेल के कारण परिवार नियोजन के प्रति अधिक रुझान देखने को मिल रहा है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस