Vidisha News राजेंद्र शर्मा, विदिशा। जिले के ग्यारसपुर और हैदरगढ़ में वन विभाग ने कुछ साल पहले करीब 700 हेक्टेयर में करीब 15 हजार सीताफल के पौधे लगाए थे।आज यह पेड़ बनकर लोगों की आय का जरिया बन गए हैं। इस बाग के आसपास रहने वाले 800 परिवार साल में दो महीने सीताफल बेचकर साल भर का परिवार का खर्च निकाल लेते हैं। वन विभाग के एसडीओ राजीव श्रीवास्तव के मुताबिक इस जंगल की देखभाल ग्रामीण ही करते हैं। जब सीताफल का सीजन आता है तो उन्हें फल तोड़ने का अधिकार दिया जाता है।

हैदरगढ़ और ग्यारसपुर का सीताफल पूरे जिले में प्रसिद्ध है। अपने विशिष्ट स्वाद के कारण प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी यह सीताफल ग्यारसपुर के नाम से बिकता है।

हैदरगढ़ के संजू रैकवार बताते हैं कि हम लोग साल भर तक इस बाग की सुरक्षा करते हैं। किसी को बाग में पौधे काटना तो दूर प्रवेश तक नहीं करने देते। सीताफल के पौधों की खास तौर पर देखरेख करते हैं। क्योंकि यह हमारी आजीविका चलाते हैं।

उन्होंने बताया कि हैदरगढ़ के ही 100 से ज्यादा लोग इसकी देखरेख करते हैं। ग्रामीण बताते हैं कि इसमें हजारों की संख्या में बंदर हैं। जैसे ही पेड़ में फल आना शुरू होते हैं बड़ी संख्या में बंदर यहां डेरा डाल लेते हैं जिनसे फलों को बचा पाना मुश्किल होता है। इन बंदरों से फलों को बचाने के लिए कई बार बाग में ही डेरा डालना पड़ता है।

इसके बदले हम लोगों को इन दो माह तक फल तोड़ने की छूट मिलती है जिससे हमारे परिवारों का हम लोग पोषण कर पाते हैं। एसडीओ श्रीवास्तव के मुताबिक हैदरगढ़ में करीब 10 हजार और ग्यारसपुर में करीब 5 हजार हेक्टेयर में करीब 15 हजार पौधे लगे हुए हैं। यह पौधे समय-समय पर लगाए गए थे जो आज पेड़ बनकर फल देने लगे हैं।जिनसे आसपास के गांव के करीब 800 परिवारों की आजीविका चल रही है।

शहर में मिलते हैं अच्छे दाम

हैदरगढ़ के बाग में लगे सीताफल की प्रसिद्धि ही कहें कि दर्जनों की संख्या में आने वाली सीताफल की डलियां दो से तीन घंटे में ही बिक जाती हैं। शहर के लोगों को भी जानकारी है कि खरीफाटक रोड पर हैदरगढ़ के सीताफल मिलते हैं। सुबह से ही लोग यहां आने लगते हैं। और देखते ही देखते सीताफल बिक जाते हैं। 5 रुपये से लेकर 20 रुपये तक में एक सीताफल बिक जाता है। ग्रामीणों को प्रतिदिन 300 से 500 रुपये तक की आमदनी हो जाती है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस