विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

शहर के पूरनपुरा गली नंबर चार के रहने वाले एक युवक ने गुरुवार को ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। युवक ने मरने से पहले रेलवे स्टेशन पर ही करीब डेढ़ मिनिट का एक वीडियो बनाया साथ ही चार पेजों का सुसाइट नोट भी लिखा और इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट कर दिया। वीडियो और सुसाइड नोट में उसने चार लोगों को उसकी मौत का जिम्मेदार ठहराया है।

पूरनपुरा के रहने वाले 40 वर्षीय आशीष पुत्र राजाराम सुहाने ने दोपहर करीब एक बजे रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर एक और दो के बीच मेन लाइन पर मालगाड़ी के सामने आकर आत्महत्या कर ली। आशीष सुहाने ने आत्महत्या करने से पहले स्टेशन पर बैठकर एक वीडियो बनाया और चार पेजों का सुसाइड नोट लिखा। दोनों को फेसबुक पेज पर पोस्ट कर दिया। इसमें आशीष ने चार लोगों के नाम लिए हैं। आशीष ने वीडियो में कहा कि नितिन सोनी और नीरज सोनी को उसने 8 लाख 85 हजार रुपये दिए थे, लेकिन पिछले 6 माह से वह पैसे नहीं दे रहे हैं। उन्होंने एक चेक भी दिया था लेकिन वह वापस ले लिया। उसके बाद वह पैसे देने से इनकार करने लगे। आशीष सुहाने ने राहुल यादव और जितेंद्र चिड़ार का नाम भी लिया है। उसने सुसाइड नोट में लिखा है कि राहुल से डेढ़ लाख रुपये चाहिए। जितेंद्र को एक कार, एक लाख 90 हजार रुपये में बेची थी उसने 90 हजार दे दिए थे लेकिन एक लाख रुपये नहीं दिए। अब ये दोनों भी पैसे देने से इनकार कर रहे हैं। आशीष ने चारों पर परेशान करने और जान से मारने की धमकी देने के आरोप लगाए हैं। आशीष ने कहा कि चारों ने उसे झूठे केस में फंसाने की धमकी भी दी थी और पुलिस का दबाव भी बनवाया, इसी से परेशान होकर वह आत्महत्या कर रहा है

मेरे परिवार को दिए जाएं पैसे

आशीष ने सुसाइड नोट में लिखा है कि, मुझे कानून व्यवस्था पर पूरा भरोसा है, मुझे पूरा न्याय मिलेगा और इन चारों को सजा मिलेगी। मेरी गुजारिश है कि मेरा इन चारों से जो भी पैसा मैंने लिखा है वह मेरे परिवार वालों को दिलवा दिए जाएं ताकि मेरे परिवार और मेरे बच्चे का जीवन यापन हो सके। मेरा निवेदन है कि इन चारों को कड़ी से कड़ी सजा मिले ताकि ये लोग किसी अन्य की जिंदगी के साथ खिलवाड़ न कर सकें, ये शब्द आशीष ने चार पन्नाों के सुसाइड नोट में लिखे हैं। आशीष की एक 9 साल का बेटा और 2 साल की बेटी है। वह मेडिकल दुकान चलाता था लेकिन बाद में वह दूसरा व्यवसाय करने लगा था।

इनका कहना है

मृतक के पास सुसाइड नोट नहीं मिला लेकिन उसके मोबाइल में वाट्सएप पर सुसाइड नोट देखा है, उसने जो वीडियो बनाया है वह भी मोबाइल में ही देखा है। अभी मर्ग कायम किया है, आगे इस केस को सिविल लाइन थाने को सौंपा जाएगा इसकी जांच वहीं होगी। जांच के बाद अपराध कायम किया जाएगा।

- गयाप्रसाद गौर, एएसआई जीआरपी

थथथथ

इर्ीॅािीि घीाचैनज थ

ऽऽऽऽ

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local