सिरोंज(नवदुनिया न्यूज)। तहसील के अंतर्गत आने वाली पैकौली पंचायत के ग्राम भूखरी से 1 किलोमीटर दूर बसे डाबर चक्क में आदिवासियों और गरीब परिवारों को मूलभूत सुविधाएं तक नहीं मिल रही हैं। गांव में बने टपरों की हालात बदतर है और यहां पर अव्यवस्थाओं का अंबार लगा हुआ है। गांव तक जाने पक्की सड़क नहीं है, कीचड़ में वाहनों के पहिए फस जाते हैं।

पंचायत की आदिवासी बस्ती भूखरी से यहां तक जाने के लिए 1 किलोमीटर का रास्ता है जिस पर कीचड़ की भरमार लगी हुई है। पैदल जाने में भी लोगों को घुटनों घुटनों तक कीचड़ से होकर जाना पड़ता है, वहीं दूसरी तरफ पंचायत की बात करें तो 120 घरों के गांव में लगभग 7 से 8 पीएम आवास ही स्वीकृत हो पाए हैं। कच्चे घरों की हालत ऐसी है कि कई लोग घांस, पन्नाी के टपरे बनाकर रहने को मजबूर हैं वह भी बारिश में खराब हो गए। यहां न बिजली की उपलब्धता है और ना ही पानी की कोई व्यवस्था है।जं गल से लगा हुआ यह गांव विकास के लिए अभी भी राह तक रहा है।

अतिवृष्टि में हुए नुकसान का नहीं हुआ सर्वे

लगातार हो रही मूसलाधार बारिश की वजह से गांव के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बारिश के इस मौसम में लोगों के कई घर उजड़ गए तो कई के घरों के चिराग बुझ गए। इन आदिवासियों के गांव में बहुत से घर गिरे हुए पड़े हैं, रहने के लिए जगह नहीं है और न ही पहनने के लिए कपड़े। उसके बाद भी प्रशासन का कोई भी अधिकारी आज तक इन गरीबों की सुध लेने के लिए नहीं पहुंच पाया। बारिश से नुकसान का ना ही प्रशासन की तरफ सर्वे हुआ और ना ही कोई सहायता मिली। डाबर चक्र के निवासियों प्रताप आदिवासी, चैन सिंह आदिवासी ,पवन आदिवासी, धनबाई, गुलाब बाई, राज बाई, लीलाबाई सहित सभी ने एक साथ मिलकर प्रशासन से जल्द से जल्द उन्हें मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने की मांग की है।

गांव में कराएंगे सर्वे

आपके द्वारा यह बात हमारे संज्ञान में आई है सर्वे हर जगह चल रहे हैं, हमने राजस्व से लेकर पंचायत कर्मियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि तहसील क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सभी ग्रामों और पंचायतों में गरीबों का जो नुकसान हुआ है उसका सर्वे कर रिपोर्ट जल्द से जल्द तहसील कार्यालय में सौंपी जाए। हम जल्द से जल्द पटवारी को भेजकर उस गांव के लोगों का सर्वे कराकर उचित सहायता मुहैया कराएंगे।

-सी.के ताम्रकार, नायब तहसीलदार सिरोंज

देंगे सुविधाएं

ग्राम के अंतर्गत जो भी अव्यवस्था हैं उनको हम जल्द से जल्द सुधार करेंगे। वहीं पीएम आवास को लेकर लोगों में बहुत भ्रांतियां है सरकार के द्वारा 2011 जनगणना के अनुसार ही पीएम आवास स्वीकृत किए जा रहे हैं उनके अंतर्गत जो भी गरीब परिवार आते हैं उनको पीएम आवास जरूर उपलब्ध कराया जाता है। वहीं सड़क के लिए गांव वालों के माध्यम से लिखित में आवेदन दिया जाएगा तो जल्द से जल्द उनकी सड़क की मांग को पूरा किया जाएगा।

शोभित त्रिपाठी, सीईओ जनपद पंचायत

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local