श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले में स्मैक, अफीम और गांजा का कारोवार तेजी के साथ पैर पसारता जा रहा है। इससे युवा पीढ़ी नशे की गिरफ्त में आती जा रही है। यहां 'उड़ता पंजाब' मूबी में दिखाए पंजाब के हालात जैसे हैं। बीते साल तक जिले में गिने-चुने लोग स्मैक लेते थे लेकिन अब स्मैक का उपयोग करने वालों की संख्या एक हजार से भी ज्यादा पहुंच गई, जो तेजी के साथ बढ़ती ही जा रही है। इसे लेकर जिले के कुछ किरदार फिक्रमद हैं और वे नशा कारोबारियों के नाम भी पुलिस महकमे के अफसरों को सौंप चुके हैं, लेकिन उनके द्वारा नशा बेचने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इससे नशे के आदी होते जा रहे युवा अपराधी बनकर मौत को गले लगा रहे हैं। पुलिस अफसर निगरानी की बात कह रहे हैं।

ताजा मामला शनिवार को जिला जेल की 03 नंबर बैरक में फंदे पर झूलने वाले शहर के रेंगर मोहल्ला निवासी बंदी सोनू माली का है। उसने स्मैक की लत में पड़कर न सिर्फ अपना भविष्य बर्बाद कर लिया बल्कि 25 साल की उम्र में जान तक गवां दी। बताया जा रहा है कि सोनू पिछले कई सालों से स्मैक का नशा करने लग गया था। शुरू में तो सोनू घर से रुपयों का जुगाड़ कर लेता था लेकिन जब घर से रुपये मिलना बंद हो गए तो नशे के लिए सोनू अपराधी बन गया और छोटी-मोटी चोरियां करते-करते कई बार जेल की सलाखों के पीछे भी पहुंच गया। आखिर में नशे की लत ने सोनू को ही निगल लिया। सोनू की तरह शहर सहित जिले भर में कई युवा नशे की लत की वजह से अपनी जान गवां चुके हैं और इस तरह के मामले तेजी के साथ बढ़ रहे हैं। पुलिस नशा बेचने वालों को पकडने की बजाए उन पर मेहरवानी किए हुए है। इससे जिले में स्मेंक सहित नशे का अन्य कारोवार तेजी के साथ फल-फूल रहा है।

बॉक्स

इन जगहों पर आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं स्मैक के टोकन

-250-300 रुपये कीमत में बेचे जाने वाले स्मेंक (सफेद पाउडर) के टोकन शहर के इमामबाड़े, पंडित घाट और बड़ौदा रोड़ इलाके से लेकर दांतरदा, पांडोला, प्रेमसर, ढोंटी, बड़ौदा, प्रेमसर, ननावद, कराहल, विजयपुर, राड़ेप सहित 25 से ज्यादा जगहों पर बजे पैमाने पर किया जा रहा है। इसकी जानकारी न सिर्फ आमजन को है बल्कि, प्रशासन और पुलिस महकमे के अधिकारियों को भी है।

बॉक्स

नशे ने छीना कई महिलाओं के माथे का सिंदूर

-शहर के रेंगर मोहल्ला, पंडित घाट इलाके में स्मेंक, गांजा और शराब का नशा कई महिलाओं के माथे का सिंदूर उनसे छीन चुका है। शनिवार को फंदे पर झूलने वाला सोनू भी इसी इलाके का रहने वाला था। नशे के कारोवार को बंद कराने के लिए पूर्व में इस वार्ड के पार्षद दीपचंद रेंगर के द्वारा लंबे समय तक धरना भी दिया लेकिन, जिम्मेदारों ने नशा कारोवारियों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया।

बॉक्स

15 दिन बाद भी नशा कारोबारियों पर कार्रवाई नहीं

- युवाओं में बढ़ती हुई नशे की लत से परेशान क्षेत्रवासियों ने पिछले 05 अक्टूबर को गांव-गांव में नशा बेचने वाले 57 लोगों की सूची बनाकर शहर के श्रीहजारेश्वर पार्क में बैठक की गई। इसमें कई लोगों ने पुलिस पर नशा कारोबारियों से मिलीभगत होने के आरोप लगाए। फिर एसपी संपत उपाध्याय को 57 नशा कारोबारियों के नामों की सूची सौंपकर 15 दिनों के भीतर स्मैक कारोबारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की, लेकिन आज 15 दिन पूरे होने तक भी पुलिस महकमे के अफसरों द्वारा स्मैक कारोवारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। इससे नशे का कारोवार चरम सीमा में पहुंचता जा रहा है।

वर्जन

-स्मैक पाउडर के टोकन 250 रुपये में शहर से लेकर गांव-गांव में खुलेआम बेचे जा रहे हैं। आजकल तो मोबाइल फोन के माध्यम से यह कारोवार और भी ज्यादा तेजी के साथ चल रहा है, जिससे युवाओं में तेजी के साथ नशे की लत बढ़ती जा रही है। हमने और दूसरे लोगों ने खूब शिकायतें कर लीं लेकिन, जिले का दुर्भाग्य है कि, नशा बेचने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती।

- विवेक भारद्वाज

समाजसेवी श्योपुर।

2

-क्षेत्र के लोगों के साथ मेंने 05 अक्टूबर को एसपी साहब को नशा कारोवारियों के नामों की सूची सौंपी गई थी और उन पर 15 दिनों के भीतर कार्रवाई किए जाने की मांग भी की गई थी लेकिन, अभी तक पुलिस अधिकारियों ने एक भी स्मैक कारोवारी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। हम बड़ौदा में बैठक करके आगामी रणनीति तैयार करेंगे।

- रामलखन हिरणीखेड़ा

प्रदेश सचिव कांग्रेस कमेंटी।

3

-जहां भी इस तरह के अवैध कारोवार की सूचना मिलती है तो वहां तत्काल टीमें भेजकर कार्रवाई करवाई जाती है। किसी के ऐसे नाम बताने से डायरेक्ट कार्रवाई थोडी कर दी जाएगी, पुलिस को जिन लोगों के नाम दिए गए हैं, हमारी पुलिस टीमें उनपर नजर रख रहीं है। अगर वह इस तरह का कारोबार करते होंगे, तो पुलिस उन्हें तत्काल पकडकर सख्त कार्रवाई करेगी।

- संपत उपाध्याय

एसपी श्योपुर।

फोटो :15

कैप्सन : नशा कारोवारियों के खिलाफ कार्रवाई कराने श्रीहजारेश्वर पार्क में बैठक करते आमजन और जनप्रतिनिधि। (फाइल फोटो )।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020