12th Board Exam 2021: CBSE और CISCE बोर्ड की 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायरकी गई है। 14 मई के दिन दायर की गई याचिका में कहा गया था कि देश में फैली कोरोना महामारी के कारण अभी परीक्षाओं का आयोजन कराना संभन नहीं है। इस वजह से 12वीं की परीक्षाएं रद्द की जानी चाहिए और छात्रों के आकलन का कोई दूसरा तरीका निकाला जाना चाहिए। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस याचिका को जल्द ही सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया जा सकता है।

एडवोकेट ममता शर्मा ने सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर करते हुए कहा था कि कक्षा 12 के छात्र-छात्राओं के रिजल्ट ‘ऑब्जेक्टिव मेथोडोलॉजी’ के आधार पर निर्धारित समय-सीमा में घोषित किये जाएं। याचिका में केंद्र सरकार, सीबीएसई और सीआईएससीई से इस सम्बन्ध में आदेश जारी किये जाने गुजारिश भी की गई थी। हालांकि, अभी तक इस जनहित यचिका के सुनवाई के लिए सूचीबद्ध नहीं किया गया है।

कई वरिष्ठ वकीलों की अपील के बाद शीर्ष अदालत की वेकेशन बेंच ने कहा है कि इस याचिका को मुख्य न्यायाधीश के समक्ष सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किये जाने किए निर्देश जारी किये जाएंगे। न्यायाधीश न्यायमूर्ति वीनीत सरण और न्यायमूर्ती बीआर गावल की खण्डपीठ ने कहा, “हम रजिस्ट्री को निर्देश देगें कि ‘अर्जेंसी अप्लीकेशंस’ को मुख्य न्यायाधीश के समक्ष सूचीबद्ध करें।” कण्डपीठ के इस बयान के बाद CBSE और CISCE की 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने की याचिका पर सुनवाई की उम्मीद बढ़ गयी है।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags