69000 Teacher Bharti: उत्तर प्रदेश में 69000 सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया पर फिर रोक लग गई है। इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच के आदेश पर ये रोक लगाई गई है। एक-दो नंबर से फेल हुए कई छात्रों ने परीक्षा में पूछे गए सवालों के उत्तर को चुनौती देते हुए हाई कोर्ट में याचिक दायर की है। इसी पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने ये निर्देश दिए हैं। फिलहाल कोर्ट ने इन अभ्यर्थियों को अपनी आपत्ति दर्ज कराने के लिए 1 सप्ताह का समय दिया है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 69000 सहायक अध्यापकों की भर्ती होना है। इसी की प्रक्रिया जारी है। एक दिन पहले ही इस भर्ती प्रक्रिया के तहत जिलेवार आवंटन के साथ चयनित उम्मीदवारों की सूची जारी की गई है। बेसिक शिक्षा परिषद प्रयागराज ने 67867 उम्मीदवारों को अंतिम सूची में सम्मिलित किया और इन चयनित अभ्यर्थियों की काउंसलिंग प्रक्रिया आज यानि 3 जून से 6 जून 2020 के बीच होना थी।काउंसिलिंंग के बाद ही इन अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिए जाने थे, लेकिन अब काउंसिलिंग पर रोक लगा दी गई है। बता दें कि जिलेवार आवंटन की सूची बेसिक शिक्षा परिषद की ऑफिशियल वेबसाइट atrexam.upsdc.gov.in और upbasiceduboard.gov.in पर उपलब्ध है।

गौरतलब है कि परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने 9 मई को संशोधित आंसरशीट और 12 मई को परीक्षा परिणाम जारी किए थे। लंबे इंतजार के बाद प्रक्रिया आगे बढ़ते हुए जिलेवार आवंटन तक पहुंची थी कि इसमें एक बार फिर रुकावट आ गई है। एक-दो नंबर से फेल हुए सैकड़ों अभ्यर्थियों ने हाई कोर्ट का रूख किया। हाईकोर्ट की इलाहाबाद और लखनऊ खंडपीठ में 200 से ज्यादा याचिकाएं दाखिल कर करीब एक दर्जन प्रश्नों के उत्तर को चुनौती दी गई है।

वरिष्ठ अधिवक्ता एचजीएस परिहार ने भी इस बात की पुष्टि की है कि शिक्षक भर्ती प्रक्रिया को फिलहाल स्थगित करना पड़ा है। कोर्ट ने अभ्यर्थियों को 1 सप्ताह का समय देकर आपत्ति दर्ज कराने को कहा है। सरकार इन आपत्तियों को यूजीसी के पास भेजेगी जहां एक विशेषज्ञ कमेटी सभी आपत्तियों को निस्तारित करेगी। हाई कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई 12 जुलाई को तय की है।

बता दें कि आंसरशीट जारी होने के साथ ही विवाद शुरू हो गए थे। सबसे ज्यादा विवाद नाथ सम्प्रदाय के प्रवर्तक को लेकर जुड़े सवाल पर हुआ। विषय विशेषज्ञों ने नाथ सम्प्रदाय के प्रवर्तक मत्स्येन्द्रनाथ को माना है जबकि अभ्यर्थी साक्ष्यों के साथ गोरखनाथ सही जवाब बता रहे हैं। इसके अलावा भी कई सवालों के जवाब को लेकर अभ्यर्थियों ने तर्क और साक्ष्य प्रस्तुत किए।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना