BSEB 10th Result 2020: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) की 10वीं बोर्ड के रिजल्ट जारी हो गया है और इसी के साथ पिछले एक सप्ताह से रिजल्ट को लेकर जारी गहमागहमी पर विराम लग गया। इस बार 10वीं रिजल्ट का प्रतिशत 80.59 रहा है। 96.20 प्रतिशत के साथ हिमांशु सुभाष सिंह राज पूरे प्रदेश के टॉपर बनें।

बता दें कि इस साल 10वीं बोर्ड की परीक्षा में 14 लाख 94071 छात्र-छात्राएं शामिल हुए जिनमें कुल 12 लाख 4030 छात्र उत्तीर्ण हुए। इनमें 6 लाख 13485 छात्र और 5 लाख 90 हजार से ज्यादा छात्राएं शामिल हैं। वहीं 2 लाख 89692 विद्यार्थी इस बार फेल हुए हैं। यहां हम आपको बता रहें हैं कि 10वीं की परीक्षा में पास होने के लिए न्यूनतम मार्क्स क्या रहे और बोर्ड की ग्रेस मार्क्स पॉलिसी (कृपांक नंबर नीति) क्या है। कितने नंबर पर ग्रेस मार्क्स मिलेंगे।

BSEB 10th Result 2020: न्यूनतम पासिंग मार्क्स

बिहार बोर्ड में पास होने के लिए छात्र को हर विषय में 100 में से कम से कम 30 नंबर लाना जरूरी था। वहीं उसके कुल 150 नंबर होने चाहिए। 150 मार्क्स हासिल कर ही छात्र को 11वीं में प्रवेश मिलेगा। बिहार बोर्ड के नियम के मुताबिक छात्र को पास होने के लिए इंग्लिश और ऑप्शनल विषय को छोड़कर सभी विषयों में पास होना अनिवार्य है। सोशल साइंस और साइंस समेत प्रैक्टिल विषयों में स्टूडेंट्स को थ्योरी और इंटरनल असेस्टमेंट दोनों में पास होना जरूरी है।

BSEB 10th Result 2020: ये है ग्रेस मार्क्स पॉलिसी

बिहार बोर्ड ने अपने यहां ग्रेस नंबर पॉलिसी भी लागू की है। इस नीति के तहत यदि किसी स्टूडेंट को किसी भी सब्जेक्ट में 8 फीसदी या इससे कम नंबर आते हैं या फिर दो सब्जेक्ट में 4-4 फीसदी नंबर से फेल हो जाता है, तो ऐसे स्टूडेंट को बोर्ड की ओर से ग्रेस (कृपांक) देकर पास किया जाता है और फिर ये बच्चे अगली क्लास में प्रमोट होते हैं। इसके अलावा यदि किसी छात्र को कुल 75 फीसदी नंबर आते हैं लेकिन किसी एक विषय में वह 10 प्रतिशत कम नंबर से फेल हो जाता है तो उसे भी बोर्ड पास घोषित करता है।

BSEB 10th Result 2020: ये है प्रथम श्रेणी

बिहार बोर्ड परीक्षा नियम के तहत प्रथम श्रेणी में पास होने के लिए छात्र को 300 में से 225 या उससे ज्यादा नंबर लाना थे। इस साल बिहार 10वीं बोर्ड परीक्षा में करीब 15 लाख छात्र-छात्राएं शामिल हुए। इनमें कुल 403392 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में पास हुए हैं। फर्स्ट डिविजन में 238093 छात्र और 165299 छात्राएं शामिल हैं। वहीं 524217 सेकंड और 275402 विद्यार्थी थर्ड डिविजन में पास हुए हैं।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना