CBSE Board Exam 2020: कोरोना संकट के कारण जो बच्चे अपने गृह प्रदेश चले गए हैं और अपने बोर्ड परीक्षा के सेंटर वाले जिले में नहीं हैं उन्हें केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने बड़ी राहत दी है। HRD मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने CBSE की बोर्ड परीक्षाओं में शामिल हो रहे विद्यार्थियों की समस्या को देखते हुए घोषणा की है कि ऐसे विद्यार्थी अपनी बोर्ड परीक्षा अपने गृह जिले में ही दे सकते हैं। बता दें कि CBSE बोर्ड की परीक्षाएं 1 से 15 जुलाई 2020 के बीच आयोजित की जाएंगी।

दरअसल CBSE बोर्ड में कई छात्र ऐसे हैं जो पढ़ाई के लिए एक शहर से दूसरे शहर आते हैं। लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण और देशव्यापी लॉकडाउन के कारण जब परीक्षाएं स्थगित हुईं और स्कूल बंद हुए तो बड़ी संख्या में छात्र अपने गृह प्रदेश और गृह जिले लौट गए। अब जब CBSE बोर्ड और HRD मंत्रालय ने CBSE बोर्ड की 10वीं और 12वीं कक्षा की शेष बची परीक्षाएं जुलाई में आयोजित करने का फैसला किया है, तो गृह जिले लौट गए बच्चों को लॉकडाउन में वापस आकर अपने स्कूल में परीक्षा देना मुश्किल होगा। इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय मंत्री ने ये राहत भरी घोषणा बच्चों के लिए की।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

गौरतलब है कि इससे पहले HRD मंत्री ने कहा था कि छात्रों की परीक्षा उनके स्कूल में ही होगी, जहां पर उनका एनरोलमेंट है। पर अब तमाम परिस्थितियों को देखते हुए CBSE बोर्ड और मंत्रालय ने अपना फैसला बदल लिया है।

29 मुख्य विषयों के होंगे पेपर

यहां बता दें कि CBSE बोर्ड कुल 29 मुख्य विषयों की परीक्षाएं ही आयोजित करेगा। इनमें 12वीं कक्षा के 12 पेपर देशभर में होंगे, जबकि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में 12वीं के 11 विषयों की परीक्षा होगी। इसके अलावा उत्तर- पूर्वी दिल्ली में 10वीं के 6 पेपर भी आयोजित किए जाएंंगे।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना