CBSE Exam 2021-22: CBSE बोर्ड ने वर्ष 2021-22 की परीक्षा के लिए स्कूलों से दसवीं और बारहवीं के उम्मीदवारों की सूची मांगी है। बोर्ड ने स्कूलों प्रमुखों को पत्र लिखकर कहा है कि जो भी छात्र 2021-22 बोर्ड परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं, उनकी सूची 30 सितंबर तक जमा करें। सीबीएसई के नोटिस के अनुसार, स्कूलों को 17 सितंबर से बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट cbse.gov.in पर जाकर ई-परीक्षा लिंक पर जाकर छात्रों की लिस्ट जमा करनी होगी। इसके बाद नवंबर-दिसंबर में बोर्ड पहली अवधि की परीक्षा आयोजित करेगा।

सीबीएसई ने अपने पत्र में लिखा कि स्कूलों से आग्रह है वह समय से जानकारी भरें और सभी सूचनाएं पूरी तरह से ठीक हों। इससे पहले 16 अगस्त को भी स्कूलों को इस संबंध में एक पत्र लिखा गया था।

छात्रों का नाम देने से पहले जांच जरूरी

सीबीएसई के पास किसी भी छात्र का नाम देने से पहले स्कूलों को यह सुनिश्चित करना होगा कि छात्र किसी अन्य बोर्ड में रजिस्टर्ड न हो। साथ ही वह छात्र उसी स्कूल का हो और नियमित रूप से कक्षाओं में शामिल हो रहा हो और वो किसी भी गैर-एफिलिएटिड स्कूल से न हो। जिन छात्रों का नाम 30 सितंबर तक बोर्ड के पास नहीं पहुंचता उनका रजिस्ट्रेशन कराने के लिए लेट फीस जमा करनी होगी। 1 से 9 अक्टूबर के बीच लिस्ट सबमिट करने लिए विंडो फिर से खुलेगी, लेकिन इस बार हर उम्मीदवार की लेट फीस 2000 रुपये होगी।

क्या है फीस का स्ट्रक्चर

भारत में स्कूलों को हर उम्मीदवार के 5 विषयों के लिए 1500 रुपये और भारत के बाहर के स्कूलों को हर उम्मीदवार के 5 विषयों के लिए 10000 रुपये देने होंगे। दिल्ली के सरकारी स्कूलों के SC और ST उम्मीदवारों के 5 विषयों के लिए स्कूलों को1200 रुपये का भुगतान करना होगा। वहीं अतिरिक्त या वैकल्पिक विषयों के लिए हर उम्मीदवार के लिए 300 रुपये स्कूलों को देने होंगे। वहीं भारत के बाहर के स्कूलों को प्रति उम्मीदवार अतिरिक्त या वैकल्पिक विषयों के लिए 2000 रुपये का भुगतान करना होगा।

Posted By: Arvind Dubey