नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के उत्तर-पूर्वी हिस्से में फैली हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है और हालात अब भी तनावपूर्ण हैं। इस बीच CBSE ने बड़ा फैसला लेते हुए इन हिंसा ग्रस्त इलाकों में 28 और 29 फरवरी को होने वाली 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं आगे बढ़ा दी हैं। वहीं दिल्ली के अन्य हिस्सों में यह परीक्षाएं तय शेड्यूल के अनुसार ही होंगी। वहीं दूसरी तरफ जो छात्र हिंसा की वजह से आगे बढ़ाई गई परीक्षा में शामिल नहीं हो पाएंगे उन्हें नई तारीख की जानकारी जल्द दी जाएगी।

CBSE ने इसे लेकर एक लेटर जारी किया है उसमें इस बात की जानकारी भी दी गई है कि 28 और 29 तारीख को किन-किन विषयों की परीक्षाएं रद्द हुई हैं। बोर्ड ने अपने लेटर में इन विषयों की जानकारी भी दी है। इसके अनुसार 28 फरवरी को जहां 10वीं का Elem Book-K और Accountancy का पर्चा था वहीं 12वीं के ऊर्दू इलेक्टिव, संस्कृत इलेक्टिव, नेशनल केडेट कॉर्प्स, ऊर्दू कोर, संस्कृत कोर, इंजीनियरिंग साइंस, फ्रंट ऑफिस ऑपरेशंस, एयर कंडिशन एंड रेफ्रीजरेशन, डिजाइन और सेल्समेनशिप के पर्चे हैं।

वहीं 29 तारीख को 10वीं के हिंदी कोर्ट ए और हिंदी कोर्स बी का पर्चा है वहीं 12वीं के इंजीनियरिंग ग्राफिक्स, लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस, टाइपोग्राफी एंड कंप्यूटर एप्लीकेशस हिंदी, टाइपोग्राफी एंड कंप्यूटर एप्लीकेशस अंग्रेजी, लाइब्रेरी सिस्टम एंड रिसोर्स मैनेजमेंट, कैपिटल मार्केट ऑपरेशंस, टाइपोग्राफी एंड कंप्यूटर एप्लीकेशस, इलेक्ट्रॉनिक टेक्नोलॉजी, लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस न्यू, फैशन स्टडीज, प्रिंटेड टैक्सटाइल शामिल हैं।

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले में सीबीएसई से कहा था कि यह संभव नहीं है कि हिंसाग्रस्त इलाकों में अगले ही दिन परीक्षा आयोजित की जा सके। ऐसे में वो फिर से शेड्यूल बनाएं और परीक्षा फिर आयोजित करने की नई तारीखों का जल्द ऐलान करे। सुनवाई के दौरान न्यायमूर्ति राजीव शकधर ने कहा कि माता-पिता ऐसे हिंसाग्रस्त इलाकों में अपने बच्चों को नहीं भेजना चाहेंगे।

Posted By: Ajay Kumar Barve