CoronaVirus update: कोरोना वायरस महामारी और 21 दिनों के लॉकडाउन के चलते सबसे ज्यादा शिक्षा जगत हो रहा हैं। स्टूडेंट्स की स्कूल-कॉलेज की परीक्षाएं स्थगित हो गई हैं.. प्रवेश परीक्षाएं, भर्ती परीक्षाएं, इंटरव्यू सहित सभी तरह के परीक्षा कार्यक्रम टल गए हैं। ऐसे में स्टूडेंट्स काफी मानसिक त्रास का सामना कर रहे हैं। इस दौर में मानसिक स्वास्थ्य बनाए रखने में सहायता के लिए मुंबई विश्वविद्यालय ने एक पोर्टल लांच किया है। इसकी मदद से ऑनलाइन काउंसलिंग और साइकोमेट्रिक एसेसमेंट कर परेशानी, चिंता और डर जैसी समस्याएं दूर की जा सकती है।

ऐसे लें लाभ

मुंबई विश्वविद्यालय के अप्लाईड साइक्लॉजी एवं काउंसलिंग सेंटर ने इस पोर्टल को लांच किया है। इस पर अंग्रेजी, हिंदी सहित कुल 6 भाषाओं में काउंसलिंग की जा रही है। ये सुविधा पूरी तरह निशुल्क है और इसका लाभ लेने के लिए पहले व्यक्ति को मुंबई विश्वविद्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए ऑनलाइन फॉर्म से रजिस्ट्रेशन कराना होगा और फिर वे इस काउंसिलिंग का फायदा ले सकेंगे। रजिस्ट्रेशन फॉर्म में व्यक्ति को अपने संबंध में साधारण जानकारी भरना होगी। इसके अलावा उसे काउंसलिंग का समय (निर्धारित स्लॉट में से), भाषा और स्वास्थ्य जैसी जानकारियां फीड करना होगी।

विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर विवेक बेल्हेकर ने इस पोर्टल को लेकर सभी प्रोफेसरों को प्रशिक्षित किया है क्योंकि वे ही इस ऑनलाइन प्रोग्राम को संचालित कर रहे हैं। इस ऑनलाइ काउंसिलिंग प्रोग्राम को विश्व स्वास्थ्य संगठन, अमेरिकन साइक्लॉजिकल एसोशिएन और अन्य पेशेवर गाइडलाइन के अनुरूप तैयार किया गया है। साथ ही काउंलिग में शामिल सभी फैकल्टी मेम्बर्स को विभिन्न मानसिक समस्याओं के सम्बन्ध में प्रशिक्षित भी किया गया है।

इन परेशानियों से जुझ रहे हैं लोग

बता दें कि लॉकडाउन की इस अवधि में लोग चिंता, अनिश्चितता, बीमारी के डर, आशंका, अवसाद, शारीरिक रुप से कमजोर और मानसिक त्रास महसूस कर रहे हैं जिससे वे बैचेनी का शिकार हो रहे हैं। ये सभी बातें व्यक्ति को मानसिक रुप से कमजोर कर रही हैं क्योंकि ऐसी स्थिति से पहले वे कभी नहीं गुजरे हैं।

ऐसे में अप्लाईड साइक्लॉजी एवं काउंसलिंग सेंटर ने पोर्टल विकसित किया है। इसके साथ ही सेंटर ने इंफॉर्मेशन हैंडआउट भी बनाया है जिससे मानसिक स्वास्थ्य संबंधी विभिन्न समस्याओं, भावनात्मक कठिनाईयों, वर्क फ्रॉम होम एवं प्रोडक्टीविटी से जुड़ी समस्याओं, बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों से संबंधित समस्याओं के लिए आसान उपायों की जानकारी ली जा सकती है।

UGC ने भी दिए निर्देश

बता दें कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने भी लॉकडाउन के दौरान छात्रों की मनो सामाजिक चिंताओं को दूर करने के लिए मानसिक स्वास्थ्य हेल्पलाइन नंबर शुरू करने के निर्देश सभी विश्वविद्यालयों को दिए हैं। UGC ने कहा कि मौजूदा स्थिति में छात्रों में उनकी पढ़ाई, स्वास्थ्य और अन्य मुद्दों को लेकर तनाव या अवसाद जैसी समस्याओं से निपटने के लिए विश्वविद्यालय और कॉलेजों को मानसिक स्वास्थ्य हेल्पलाइन शुरू करनी चाहिए।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना