ICAI CA Exam 2020 update: देश में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति और इसके बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (ICAI) ने स्टूडेंट्स को बड़ी राहत दी है। ICAI ने जुलाई में होने वाली सीए परीक्षा को लेकर स्टूडेंट्स को ऑफ आउट का ऑप्शन दिया है। इसके तहत उम्मीदवार यदि चाहे तो वो जुलाई में होने वाली सीए की परीक्षा को छोड़ सकता है और इसके बजाए नवंबर में होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकता है।

ICAI ने जुलाई में होने वाली CA परीक्षा को लेकर इस बड़े फैसले से संबंधित नोटिफिकेशन भी जारी किया है। बता दें कि सीए की ये परीक्षा 29 जुलाई 2020 से शुरू होने वाली है। ICAI ने अपने नोटिफिकेश में बताया कि जो स्टूडेंट्स मई 2020 परीक्षा प्रक्रिया के लिए पहले ही ऑनलाइन आवेदन सबमिट कर चुके हैं, वे परीक्षा न देने का विकल्प चुन सकते हैं। इसके अलावा वे नवंबर में होने वाली परीक्षा का विकल्प दे सकते हैं। ICAI ने ये भी स्पष्ट किया कि ऐसे मामलों में परीक्षा फीस या उससे संबंधित कोई छूट होती है तो उसे नवंबर में होने वाली अगली परीक्षा में समायोजित कर लिया जाएगा। इसके अलावा ICAI ने जुलाई में होने वाली परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स को भी जानकारी दी कि इस परीक्षा के लिए तमाम जरूरी व्यवस्था जुटाई गई हैं और कोरोना वायरस से बचाव के लिए हर निर्देशित सावधानी को अपनाया जा रहा है। ऐसे में उन्हें चिंता करने की कोई जरुरत नहीं है।

ICAI ने इससे संबंधित विस्तृत जानकारी में बताया कि जो स्टूडेंट्स जुलाई में होने वाली परीक्षा छोड़ना चाहते हैं उन्हें 17 से 20 जून के भीतर एक घोषणा पत्र प्रस्तुत करना होगा। इसमें उन्हें बताना होगा कि वे जुलाई में होने वाली परीक्षा की बजाए नवंबर में होने वाली परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं।

बहरहाल जो परीक्षार्थी इस जुलाई में होने वाली परीक्षा में शामिल होंगे, उनकी थर्मल स्कैनिंग की जाएगी। साथ ही फेस मास्क से लेकर सेनेटाइजेशन की भी पूरी व्यवस्था रखी जा रही है। हर सेंटर में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन किया जाएगा। बता दें कि ICAI ने घोषणा की है कि परीक्षा के पहले परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र बदलने का भी मौका दिया जाएगा। उम्मीदवार 17 जून से 20 जून के बीच अपने परीक्षा केंद्रों में बदलाव कर सकेंगे।

दरअसल परीक्षा के आयोजन को लेकर ICAI ने छात्रों के विचार जाने थे। इस पर छात्रों के सुझाव, विचार और आग्रह को ध्यान में रखते हुए ICAI ने बड़े फैसले किए हैं।

Posted By: Rahul Vavikar

  • Font Size
  • Close