JEE Main 2020: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा आयोजित की जाने वाली जेईई मेन (JEE Main 2020) के द्वितीय चरण यानि अप्रैल परीक्षा 2020 के लिए आवेदन की प्रक्रिया समाप्त हो चुकी है। NTA ने करेक्शन विंडो ओपन की थी और अब आवेदन में त्रुटिसुधार का आज अंतिम मौका है.. ये करेक्शन विंडो अब से कुछ देर में बंद हो जाएगी।

बता दें कि JEE Main April exam 2020 के लिए 7 फरवरी से 12 मार्च 2020 तक आवेदन की प्रक्रिया हुई थी। जो स्टूडेंट्स अपने आवेदन फॉर्म में त्रुटि सुधार करना चाहते हैं, वो ऑनलाइन ही गलती सुधार कर सकते हैं। बता दें कि इसके तहत स्टूडेंट्स अपनी निजी जानकारी, एकेडमिक डिटेल, पेपर में बदलाव, परीक्षा की भाषा, नाम, एलिजिबिलिटी, जन्म तिथि, वर्ग सहित अन्य जानकारियों में बदलाव कर सकते हैं।

यहां स्पष्ट कर दें कि वर्ग या श्रेणी में बदलाव करने के बावजूद कोई फीस रिफंड नहीं होगी। इसे लेकर अधिकारी पहले ही निर्देश जारी कर चुके हैं। इसके अलावा यदि स्टूडेंट्स पेपर के नंबरों में कोई बदलाव करते हैं तो उन्हें अतिरिक्त फीस जमा करना होगी।

JEE Main 2020: ऐसे करें त्रुटि सुधार

JEE Main 2020 आवेदन में त्रुटिसुधार के लिए स्टूडेंट्स सबसे पहले जेईई मेन (JEE Main 2020) की अधिकृत वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर जाएं। यहां वे JEE Main application form correction link पर क्लिक करें। नए पेज पर स्टूडेंट्स को JEE Main April exam 2020 का अपना आवेदन क्रमांक, पासवर्ड और सिक्यूरिटी कोड डालना होगा। इस पर उनका आवेदन फॉर्म स्क्रीन पर डिसप्ले होगा। यहां करेक्शन वाले सेक्शन को सिलेक्ट करें और जरुरी सुधार करें। अंत में सबमिट का बटन क्लिक करें। इसी के साथ त्रुटि सुधार की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

JEE Main 2020: दोनों परीक्षा दे सकते हैं

गौरतलब है कि जो स्टूडेंट जनवरी जेईई मेन में अच्छा स्कोर नहीं कर पाए थे उनके पास इस परीक्षा के जरिए अपना जईई मेन स्कोर सुधारने का मौका है। गौरतलब है कि NTA 5 से 11 अप्रैल के बीच पहले चरण की जेईई मेन परीक्षा आयोजित करने वाला था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है। पहले 14 अप्रैल 2020 तक लॉकडाउन था, लेकिन अब इसे 3 मई 2020 तक बढ़ा दिया गया है, ऐसे में अनुमान है कि ये परीक्षा जून में आयोजित की जा सकती हैं। बता दें कि NTA JEE Main exam 2020 के जरिए 12वीं पास छात्र-छात्राएं IIT और देश के बड़े इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन ले सकेंगे। वे बीई, बीटेक, बीआर्किटेक्चर और बीप्लान प्रोग्राम में प्रवेश ले सकेंगे।

Posted By: Rahul Vavikar

  • Font Size
  • Close