JEE Main Result Declared: संयुक्त प्रवेश परीक्षा मेन यानि जेईई मेन 2021 के तीसरे सत्र के नतीजे शुक्रवार को जारी हो चुके हैं। छात्र आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nta.nic.in और ntaresults.nic.in पर जाकर अपना स्कोर पता कर सकते हैं। जो कैंडीडेट इस परीक्षा में आवश्यक कट-ऑफ पूरा करके जेईई मेन्स 2021 परीक्षा पास करेंगे वो जेईई एडवांस और एनआईटी, आईआईटी और सीएफटीआई में प्रवेश पा सकेंगे। जेईई एडवांस की परीक्षा का आयोजन 3 अक्टूबर को होगा।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने जेईई मेन जुलाई 2021 परीक्षा का रिजल्ट 6 अगस्त को रात 8 बजे के बाद जारी किया। इसमें कुल 17 छात्रों ने 100 पर्सेंटाइल हासिल किया है। 100 पर्सेंटाइल हासिल करने वाले 17 स्टुडेंट में सिर्फ एक लड़की ही शामिल है। इससे पहले 5 अगस्त को एनटीए ने जेईई मेन सेशन-3 की फाइनल आंसर-की जारी की थी।

कोरोना की वजह से लेट हुई परीक्षा

यह परीक्षा पहले अप्रैल 2021 में होने वाली थी, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के कारण इसे स्थगित कर दिया गया था। इसके बाद जेईई मेन के तीसरे सत्र की परीक्षा 20, 22, 25 और 27 जुलाई को आयोजित की गई। इसके लिए देशभर से कुल 7.09 लाख स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन किया था।

जानिए कौन हैं JEE MAIN के टॉपर

जेईई मेन जुलाई 2021 परीक्षा में शत-प्रतिशत पर्सेंटाइल प्राप्त करने वालों में आंध्र प्रदेश के कर्णम लोकेश, दुग्गनेनी वेंकट पनीश, पासला वीरा शिवा और कंचनपल्ली राहुल नायडू, बिहार के वैभव विशाल, राजस्थान के अंशुल वर्मा, दिल्ली के रुचिर बंसल और प्रवर कटारिया, हरियाणा के हर्ष और अनमोल, कर्नाटक के गौरव दास, तेलंगाना के पोलु लक्ष्मी साईं लोकेश रेड्डी, मादुर आदर्श रेड्डी और वेलावली वेंकट के अलावा उत्तर प्रदेश से पाल अग्रवाल और अमैया सिंघल शामिल हैं।

915 परीक्षा केन्द्रों पर हुई परीक्षा

जेईई मेन परीक्षा के लिए कुल 7.09 लाख उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन किया था। यह परीक्षा देश और विदेश के कुल 334 शहरों में आयोजित की गई थी। इसके लिए 915 परीक्षा केन्द्र बनाए गए थे। भारतीय शहरों के अलावा बहरीन, कोलंबो, दोहा, दुबई, काठमांडू, कुआलालंपुर, लागोस, मस्कट, रियाद, शारजाह, सिंगापुर और कुवैत जैसे शहरों में भी यह परीक्षा आयोजित की गई थी। इस परीक्षा का आयोजन अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती, असमिया, बंगाली, कन्नड़, मलयालम, मराठी, उड़िया, पंजाबी, तमिल, तेलुगु और उर्दू समेत कुल 13 भाषाओं में किया गया था।

मुंबई जैसे शहरों से नहीं हैं टॉपर

जेईई मेन परीक्षा में कुल 17 छात्रों ने 100 पर्सेंटाइल हासिल किया है। इनमें राजस्थान, आंध्र प्रदेश, बिहार और दिल्ली के छात्र शामिल हैं। देश की मायानगरी मुंबई का कोई भी छात्र 100 पर्सेंटाइल नहीं हासिल कर पाया है। वहीं इस सूची में दिल्ली के 2 छात्र शामिल हैं। हरियाणा जैसे राज्यों से भी दो छात्रों ने इस परीक्षा में टॉप किया है। आमतौर पर हरियाणा जैसे राज्यों को खेती और खेल से ही जोड़कर देखा जाता है, लेकिन पिछले कुछ समय में यहां के छात्र यूपीएससी और जेईई जैसी परीक्षाओं में टॉप करके राज्य की छवि बदल रहे हैं।

Posted By: Sandeep Chourey