KVS Exams 2020: कोरोना वायरस महामारी संक्रमण की स्थिति के बीच केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) ने बड़ा फैसला किया है। KVS ने अपने यहां के 9वीं, 11वीं के उन बच्चों को भी प्रमोट करने का फैसला किया है जो फेल हो गए हैं। संगठन ने तय किया है कि जो छात्र 9वीं, 11वीं में एक या उससे ज्यादा सब्जेक्ट में फेल हुए हैं उन सभी स्टूडेंट्स को प्रोजेक्ट वर्क देकर अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा। KVS ने कोविड 19 महामारी की स्थिति के कारण लिया गया है। संघठन के मुताबिक ऐसी परिस्थितियों में कई बच्चे सही तरीके से परीक्षा की तैयारियां नहीं कर पाए हैं और इस कारण उन्हें आगे बढ़ने का मौका दिया जा रहा है।

KVS की एकेडमिक्स जॉइंट कमिशनर पिया ठाकुर ने बताया कि यदि कोई छात्र 9वीं या 11वीं क्लास में कुल 5 सब्जेक्ट्स में फेल है, तो प्रोजेक्ट के आधार पर उन्हें मार्क्स दिए जाएंगे और स्कूल द्वारा उसका मूल्यांकन कर उन्हें अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा। इससे पहले 9वीं, 11वीं में 2 सब्जेक्ट्स में फेल छात्रों को पास होने के लिए सप्लीमेंट्री एग्जाम पास करना पड़ता था। ऐसे बच्चों को सप्लीमेंट्री परीक्षा पास करने के बाद ही 10वीं या 12वीं में प्रवेश मिलता था।

यहां बता दें कि केंद्रीय व‍िद्यालय संगठन इससे पहले पहली से 8वीं कक्षा तक के छात्रों का र‍िजल्‍ट ई मेल और सोशल मीडिया के द्वारा 28 मार्च को ही जारी क‍र चुका है। अब 9वीं और 11वीं कक्षा के फेल छात्रों के संबंध में ये बड़ा फैसला किया गया है। गौरतलब है कि देश में लगभग 1200 केंद्रीय विद्यालय हैं। इन केंद्रीय विद्यालयों में 12 लाख से ज्यादा बच्चे हैं। इस बार की परीक्षाएं, प्रवेश परीक्षाएं और नया सत्र कोरोना वायरस संक्रमण के कारण प्रभावित हुआ है। फिलहाल केंद्र सरकार के निर्देश पर 31 जुलाई तक सारे स्कूल बंद हैं। स्कूल कब खुलेंगे इसका फैसला 31 जुलाई को स्थिति की समीक्षा के बाद किया जाएगा।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Budget 2021
Budget 2021