MP Board 12th Result 2020 : मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MPBSE) की 12वीं की परीक्षा रिजल्ट आज दोपहर को जारी होगा। कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से 9 से 16 जून के बीच 12वीं के बचे पेपरों की परीक्षा हुई थी। यह पहली बार है जब 12वीं की परीक्षाएं इतनी लेट हुई हो और रिजल्ट भी इतना लेट आया हो। पहले 15 मई तक 12वीं का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया जाता था। गौरतलब है कि कोरोना वायरस की वजह से 12वीं की परीक्षा को बीच में ही रोक दिया गया था, तब तक 10 पेपर हो चुके थे, बस 9 पेपर ही बाकी थे, जिनमें से प्रमुख विषयों की परीक्षा ली गई। 12वीं की परीक्षा का परिणाम जुलाई के आखिरी हफ्ते तक आ सकता है। उधर कोरोना की वजह से 12वीं की परीक्षा से वंचित रहे विद्यार्थियों के लिए दोबारा परीक्षाओं की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

कॉलेजों में एडमिशन के लिए 12वीं की मार्कशीट जरूरी

कॉलेजों में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थियों को 12वीं की मार्कशीट की आवश्यक्ता होती है। ऐसे में कॉलेजों में एडमिशन प्रकिया शुरू होने से पहले ही कॉपियां जाकर परीक्षा परिणाम घोषित करने की तैयारी है। इसलिए जुलाई के अंतिम सप्ताह तक इस रिजल्ट को जारी कर दिया जाएगा।

12वीं का रिजल्ट आने ऐसी रहेगी चेक करने की प्रक्रिया

- MP Board की वेबसाइट www.mpbse.nic.in पर जाएं।

- यहां 12th Result 2020 की लिंक पर क्लिक करें

- अपने एडमिट कार्ड की डिटेल्स और अन्य जानकारी दर्ज करें।

- सबमिट बटन पर क्लिक करें और अपना रिजल्ट चेक करें

- प्रिंट पर क्लिक कर अपने रिजल्ट की प्रति भी सेव करें।

ऐसे परीक्षा तो कभी नहीं हुई

कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए दो पालियों में हुई 12वीं की परीक्षा के दौरान परीक्षा केंद्रों पर विशेष सतर्कता बरती गई। सभी परीक्षार्थियों को मास्क पहनकर आना अनिवार्य किया गया। इसी के साथ परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पहले सभी के हाथों को सैनिटाइजर से साफ करवाया जाता और थर्मल स्कैनर से परीक्षार्थी के शरीर का तापमान देखा जाता था। परीक्षा कक्ष के अंदर भी सभी परीक्षार्थियों को दो फीट की दूरी पर बैठाया गया। कुछ जगहों पर एक बेंच छोड़कर परीक्षार्थी बैठाए गए। इस दौरान पर्यवेक्षकों के लिए भी कड़े निर्देश थे कि वे भी कोरोना को देखते हुए मास्क और दस्ताने का उपयोग करें।

जिनका तापमान ज्यादा उन्हें बैठाया आइसोलेटेड रूम में

मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने सभी केंद्रों पर आइसोलेटेड रूम भी बनाया था। परीक्षा से पहले थर्मल स्कैनर द्वारा सभी परीक्षार्थियों का तापमान देखा जाता था। इस दौरान जिसके शरीर का तापमान ज्यादा होता उसे आइसोलेटेड रूम में बैठाकर परीक्षा ली गई। साथ ही ऐसे विद्यार्थियों को कोरोना टेस्ट कराने की भी सलाह दी गई।

परीक्षा केंद्रों पर कोरोना वायरस से बचाव के लिए किए थे इंतजाम

मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल 12वीं की परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने के लिए सभी परीक्षा केंद्रों पर अतिरिक्त व्यवस्थाएं की गईं। इसके लिए संभागीय मुख्यालयों को माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 4-4 लाख रुपए और 44 जिलों को 3-3 लाख रुपए अतिरिक्त दिए। इससे माशिमं पर 12वीं की शेष परीक्षाएं कराने पर 1 करोड़ 62 लाख रुपये का अतिरिक्त भार पड़ा।

परीक्षा पर एक नजर

- 12वीं परीक्षा में कुल विद्यार्थी : साढ़े 8 लाख

- प्रदेशभर में कुल परीक्षा केंद्र : 3682

- प्रदेश में केंद्र बदले गए : 28

- उपकेंद्र की संख्या : 42

विषयवार विद्यार्थियों की संख्या

- गणित : 1 लाख 29 हजार

- रसायनशास्त्र : 3 लाख 2 हजार

- जीवविज्ञान : 1 लाख 93 हजार

- भूगोल : 1 लाख 48 हजार

- बुक कीपिंग : 1 लाख 28 हजार

- अर्थशास्त्र : 1 लाख 90 हजार

- राजनीति शास्त्र : 2 लाख 58 हजार

- व्यवसायिक अर्थशास्त्र : 1 लाख 1 हजार

- वोकेशनल कोर्स : 6 हजार 800

2019 में 72. 37 फीसदी रहा था 12वीं का रिजल्ट

मध्य प्रदेश बोर्ड 12वीं की 2019 में आयोजित परीक्षा का परिणाम 72.37 फीसदी रहा था, इसके पहले 2018 में यह 68.07 फीसदी रहा था। 2019 में हायर सेकंडरी की मेरिट लिस्ट में 117 परीक्षार्थियों को स्थान मिला है। पिछले वर्ष प्रथम श्रेणी पाने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या में 256226 विद्यार्थी शामिल थे। साथ ही द्वितीय श्रेणी पाने वालों में 152445 विद्यार्थी शामिल थे।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Budget 2021
Budget 2021