MP Board class 12th Result 2020 : मंदसौर। नईदुनिया प्रतिनिधि। कक्षा 12वीं के परीक्षा परिणामों में मंदसौर जिले के छह विद्यार्थियों ने प्रदेश की मेरीट लिस्ट में स्थान बनाया है। विज्ञान-गणित समूह में

उत्कृष्ट विद्यालय मंदसौर की छात्रा प्रिया राठौर और रिंकू बाथरा ने समान 500 में से 495 अंक प्राप्त कर प्रदेश की मेरिट लिस्ट में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

इसी समूह में उत्कृष्ट विद्यालय मंदसौर के छात्र हरीश कारपेंटर ने दूसरा एवं भानपुरा मॉडल उमावि के अनीशकुमार अहीर ने प्रदेश में नौवां स्थान प्राप्त किया है। कॉमर्स समूह में दयानंद उमावि मनपुरा के बबलू ने छठवां एवं शा. मॉडल उमावि भानपुरा के अनीश मंडकारिया ने प्रदेश में दसवां स्थान किया है। विद्यार्थियों की मेहनत से मंदसौर जिलेे का परीक्षा परिणाम 74.16 प्रतिशत रहा। इसमें शासकीय विद्यालयों का परिणाम 74.98 एवं निजी विद्यालयों का परिणाम 72.94 प्रतिशत रहा। जिला प्रदेश में 15वें स्थान पर रहा है।

प्रदेश की मेरिट सूची में मंदसौर के विद्यार्थी

विज्ञान-गणित समूह

विद्यार्थी का नाम -विद्यालय -श्रेणी -प्राप्तांक

प्रिया पुत्री शंभुलाल राठौर- -शास. उत्कृष्ट उमावि मंदसौर -प्रथम -495/500

रिंकू पुत्री मुकेश बाथरा- -शास. उत्कृष्ट उमावि मंदसौर -प्रथम -495/500

हरीश पुत्र जगदीश कारपेंटर -शास. उत्कृष्ट उमिाव मंदसौर -द्वितीय -491/500

अनीशकुमार पुत्र पुरीलाल अहीर -शा.मॉडल उमावि भानपुरा,मंदसौर -नौवां -482/500

कॉमर्स समूह

विद्यार्थी का नाम -विद्यालय -श्रेणी -प्राप्तांक

बबलू पुत्र मंगलेश -दयानंद उमावि मनपुरा, मंदसौर -छठवां स्थान -474/500

अनीश पुत्र संजयकुमार मंडकारिया -शा.मॉडल उमावि भानपुरा, मंदसौर -दसवां

स्थान -470/500

लक्ष्य पाने के लिए मेहनत जरूरी और वहीं मैंने किया

विज्ञान-गणित समूह में प्रदेश में प्रथम स्थान पर रही मंदसौर की रिंकू पुत्री मुकेश बाथरा का कहना है कि किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत होती है, 12वीं में सफलता पाने के लिए मैंने भी मेहनत में

कोई कसर नहीं छोड़ी। स्कूल में जो भी पढ़ाया जाता था वह घर आकर उसी दिन याद करती थी। घर पांच से सात घंटे प्रतिदिन पढ़ाई करती थी। सुबह पांच बजे उठकर भी पढ़ाई की। इस सफलता का श्रेय माता-पिता और स्कूल के टीचरों को देती हूं, सभी ने मुझे बहुत सहयोग किया। प्रदेश में पहला स्थान पाकर मुझे बहुत खुशी हो रही है।

कक्षा में ध्यान लगाकर पढ़ती थी, घर जाकर छह घंटे रोज पढ़ाई भी की

विज्ञान-गणित समूह में प्रदेश की मेरिट सूची में प्रथम स्थान पर रही प्रिया राठौर जिले के कनघट्टी गांव की है उसके पिता शंभुलाल राठौर किसान है। प्रिया ने बताया कि मुझे पूरा विश्वास था कि मुझे सफलता मिलेगी।

स्कूल में टीचर जो भी पढ़ाते थे मैं पूरे ध्यान से पढ़ती थी, किसी भी विषय में कोई भी डाउट होने पर उसी समय टीचरों से मिलकर क्लीयर करती थी। घर पर प्रतिदिन छह से सात घंटे पढ़ाई करती थी। मेरा सपना है कि यूपीएसई टॉप करके आईएएस ऑफिसर बनू, इसके लिए मैंने तैयारी भी शुरू कर दी है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan