PCS 2018 Result : उप्र लोकसेवा आयोग ने कर दिया है। 988 पदों के सापेक्ष 976 अभ्यर्थी सफल हुए हैं। पहले तीन पायदान पर लड़कियां हैं। पानीपत (हरियाणा) की अनुज नेहरा सर्वाधिक अंक हासिल करके शीर्ष पर हैं। दूसरे स्थान पर गुरुग्राम (हरियाणा) की संगीता राघव व तीसरे स्थान पर मथुरा (उप्र) की ज्योति शर्मा व चौथे स्थान पर जालौन (उप्र) के विपिन कुमार शिवहरे और पांचवें स्थान पटना (बिहार) के करमवीर केशव रहे। शुक्रवार को घोषित रिजल्ट में सूचना अधिकारी व जिला सूचना अधिकारी के 12 पदों पर योग्य अभ्यर्थी न मिलने के चलते ये पद खाली रह गए हैं। यूपीपीएससी ने सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा यानी पीसीएस-2018 के तहत 988 पदों की भर्ती निकाली थी। परीक्षा के लिए 6,35,844 अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन आवेदन किया। प्रारंभिक परीक्षा 28 अक्टूबर 2018 में प्रदेश के 29 जिलों के 1381 पर हुई थी, जबकि 18 से 22 अक्टूबर 2019 तक प्रयागराज व लखनऊ के विभिन्न केंद्रों में मुख्य परीक्षा कराई गई। इसमें 16738 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। आयोग ने इस साल 23 जून को मुख्य परीक्षा का परिणाम घोषित किया। इंटरव्यू के लिए 2669 अभ्यर्थी सफल हुए। वहीं, साक्षात्कार 15 जुलाई से 25 अगस्त तक चला और 68 अभ्यर्थी अनुपस्थित थे।

आयोग ने भर्ती के 988 पदों के सापेक्ष 976 अभ्यर्थियों का चयन किया है। सूचना अधिकारी व जिला सूचना अधिकारी के 12 पद खाली हैं। सचिव ने कहा कि चयनितों का प्राप्तांक, श्रेणीवार व पदवार कटऑफ अंक जल्द आयोग की वेबसाइट में जारी किया जाएगा। इसमें सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 का प्रार्थना पत्र स्वीकार नहीं किया जाएगा। आयोग सचिव जगदीश ने बताया कि जिन चयनितों के आगे प्रोविजनल शब्द अंकित है वे निर्धारित समयावधि में समस्त शैक्षिक दस्तावेज उपलब्ध करा दें, अन्यथा उनका चयन निरस्त कर दिया जाएगा। रिजल्ट हाईकोर्ट में लंबित याचिका में पारित होने वाले अंतिम निर्णय के अधीन रहेगा।

चार पदों का साक्षात्कार नहीं : पीसीएस-2018 के तहत चार पदों पर साक्षात्कार नहीं हुआ। अधिशासी अधिकारी श्रेणी-1/ सहायक नगर आयुक्त के एक व लेखाधिकारी (नगर विकास विभाग) के तीन पदों पर अभ्यर्थियों का चयन लिखित परीक्षा के आधार पर किया गया है।

बदले पैटर्न से यूपीपीएससी में गैर प्रांत का टॉपर

आयोग ने पहली बार यूपीएससी यानी संघ लोकसेवा आयोग का पैटर्न आत्मसात करके यह परीक्षा कराई, जिससे चयनितों की सूची में गैर प्रांत के मेधावियों ने जलवा दिखाया। पांचवें स्थान पर आए करमवीर का चयन कुछ दिन पहले ही आइएफएस यानी भारतीय विदेश सेवा में हुआ है। यूपीपीएससी में पीसीएस की मुख्य परीक्षा का पैटर्न बदलने की कवायद लंबे समय से चल रही थी। आयोग में पीसीएस 2018 की मुख्य परीक्षा यूपीएससी की तर्ज पर कराने का नियम लागू किया गया, मेंस की परीक्षा महज चार दिनों में पूरा कराई गई। बदले पैटर्न में मुख्य परीक्षा के लिए वैकल्पिक विषय दो से घटकर एक रह गया। पीसीएस की पहले की परीक्षाओं में साक्षात्कार 200 अंकों का होता था। इसे 100 अंक का कर दिया गया। आयोग पहले भर्तियों में यूपी की महिलाओं को 20 प्रतिशत आरक्षण देता रहा है। प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट आने के बाद गैर प्रांत की अभ्यर्थियों ने इसे चुनौती दिया, कोर्ट ने सभी महिलाओं को समान चयन का अवसर दिया। इससे आयोग को मेंस की चयन सूची में बदलाव करना पड़ा। साथ ही प्रदेश सरकार को भी आदेश जारी करना पड़ा है, हालांकि सरकार ने इसके विरुद्ध स्पेशल अपील दाखिल की है, जिस पर निर्णय आना शेष है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस