लखनऊ। UP Board 12th exam 2020: उत्तर प्रदेश बोर्ड के 12वीं कक्षा (इंटरमीडिएट) के भौतिक विषय (Physics) का पेपर लीक हो गया। इसके बाद 69 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा रद्द कर दी गई। मामला गुरुवार को हुए 12वीं के फिजिक्स के पेपर से जुड़ा है।

बता दें कि गुरुवार दोपहर अचानक फिजिक्स का हल किया हुआ प्रश्न पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसमें न केवल प्रश्न पत्र बल्कि उनके उत्तर भी शामिल थे। कई व्हॉट्सएप ग्रुपों पर वायरल होने से ये प्रश्न पत्र बच्चों तक काफी पहले से ही पहुंच गया था। प्रश्न पेपर लीक होने के बाद जिला प्रशासन और शिक्षा बोर्ड तुरंत हरकत में आए और मामले को जांच में लिया।

प्रशासन और बोर्ड की पड़ताल में ये बात सामने आई कि फिजिक्स प्रश्न पत्र के तीन सेटों में से एक सेट का प्रश्न पत्र लीक हुआ था। मऊ के 135 केन्द्रों पर बोर्ड की ये परीक्षाएं आयोजित हो रही है। गुरुवार को दोपहर 12 बजे दूसरी शिफ्ट में 12वीं का फिजिक्स का पेपर था। लगभग इसी समय हल किया हुआ पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

जांच में पता चला कि एक्स-वाई कोड का पेपर आउट हुआ है। इसके बाद जिन 69 केन्द्रों पर इस कोड का पेपर वितरित किया गया वहां की परीक्षा निरस्त कर दी। जांच में पता चला कि प्राथमिक विद्यालय भटमिला में तैनात शिक्षक ओंकार यादव, जैसवारा भटौली में तैनात शिक्षक प्रिंस कुमार और शिक्षक गोपाल दुबे ने पेपर आउट किया है। सरायलखंसी पुलिस ने ओंकार और प्रिंस को हिरासत में ले लिया है। फिलहाल इनसे पूछताछ की जा रही है और पता लगाया जा रहा है कि आखिरकार इन तक ये प्रश्न पत्र कैसे पहुंचा।

फिलहाल इस पूरे मामले के उजागर होने के बाद परीक्षाओं की गोपनीयता पर सवाल उठ रहे हैं और सरकार के तमाम दावे फेल हो रहे हैं।

बहरहाल बोर्ड की परीक्षाओं के दौरान अव्यवस्थाएं भी काफी हो रही हैं। कुछ केंद्रों में शिक्षकों की लापरवाही से रामपुर में हिंदी का गलत पेपर बांट दिया गया। परीक्षार्थियों ने विरोध किया तो उन्हें उसी प्रश्न पत्र को हल करने को कह दिया गया। इस मामले में कलेक्टर ने तत्काल कार्रवाई करते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक को तलब कर उन्हें हटाने की कार्रवाई की। साथ ही केंद्र व्यवस्थापक को हटाने और दोषियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के आदेश दिए हैं। यूपी बोर्ड परीक्षा के पहले दिन ही 12वीं सामान्य हिंदी का एक प्रश्न गलत पूछा गया।

Posted By: Rahul Vavikar