मल्‍टीमीडिया डेस्‍क। आमतौर पर हम रोजमर्रा के कामों में कुछ बातों का ध्‍यान नहीं रख पाते हैं। इनसे होने वाले प्रभावों के बारे में भी हम अनजान रह जाते हैं। दिखने में ये जरूर सामान्‍य बातें लग सकती हैं लेकिन इनके गहरे अर्थ होते हैं। सामाजिक दृष्टि से भी और धार्मिक दृष्टि से भी। इन छोटी-छोटी बातों का ध्‍यान रखकर आप भी एक संतुलित जीवन जी सकते हैं। आइये ऐसी ही कुछ बुरी आदतों और उनके प्रभावों के बारे में जानते हैं।

1. यदि आप नहाने के बाद बाथरूम साफ नहीं करते और ऐसे ही छोड़कर चले जाते हैं तो यह वास्‍तु दोष है। धर्मग्रंथों के अनुसार जल तत्‍व से चंद्रमा प्रभावित होता है। बाथरूम में नहाने पर हमें फर्श पर पानी नहीं जमे रहने देना चाहिये। सफाई करने से शुभ फल मिलता है।

2. अगर आप खाना खाकर जूठी थाली छोड़ देते हैं तो यह अन्‍न की भी बरबादी है और संस्‍कारगत रूप से भी बुरा है। ऐसा माना जाता है कि जूठे बर्तनों से अन्‍नपूर्णा माता कुपित हो जाती हैं, इसलिए खाना पूरा खाकर छोड़ना चाहिये।

3. घर के बाहर जूते या चप्‍पल यदि अव्‍यवस्थित रूप से फैले हुए रहते हैं तो इसका परिणाम ठीक नहीं होता। इससे शत्रु पक्ष मजबूत होता है। साथ ही ऐसा करने वाले के घर में अपयश बढ़ता है।

4. नींद से उठने के बाद बिस्‍तर को अव्‍यवस्थित नहीं छोड़ना चाहिये। ऐसा करना अशुभ माना जाता है। मान्‍यता है कि चादर गंदी रखने पर दिनचर्या बिगड़ जाती है और काम भी पूरी तरह से नहीं हो पाते।

5. जब भी बात करें, आहिस्‍ते से बोलें। माना जाता है कि जोर से बोलने पर शनि दोष के प्रकोप का भाजन बनना पड़ सकता है। जो लोग चिल्‍लाकर बातें करते हैं, उन पर शनि रुष्‍ट रहते हैं। इसलिए बात करते समय शांत स्‍वर में बात करना चाहिये।

Posted By: