प्यार इस दुनिया का सबसे खूबसूरत एहसास है। इश्क में संसार सुंदर लगने लगता है। सब कुछ आनंदमय हो जाता है। आप खुद को लकी समझते हैं। लेकिन जब इस प्यार के साथ विश्वासघात किया जाता है, तो सबकुछ बर्बाद हो जाता है। दुनिया वीरान लगने लगती है। मोहब्बत में संदेह होना लाजमी है, लेकिन कभी-कभी कुछ घटनाएं दूसरे को शक करने पर मजबूर कर देती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि रिलेशन में चीटिंग की गुंजाइश है। इस बीच IllicitEncounters.com ने प्यार में धोखा देने वालों की पहचान करने का एक नया तरीका खोजा है।

सितंबर में रहें सावधान

सेक्स टेंबर के नाम से मशहूर इस साइट ने एक सर्वे किया है। पाया कि सितंबर के महीने में लोग ज्यादा धोखा देने लगते हैं। किसी भी अन्य महीने की तुलना में इस माह ब्रेकअप के 22 प्रतिशत अधिक केस शुरू हुए। इस स्टडी में पाया गया कि 32 फीसदी महिलाएं और 34 फीसदी पुरुष गर्मियों के बाद सितंबर के महीने में अपने पार्टनर को धोखा देने लगते हैं।

ये निकली धोखा देने की वजह

अध्ययन में धोखेबाजों का गहन अध्ययन किया गया। यह पता चला है कि धोखेबाज व्यक्तित्व वाले लोग सिंगल पार्टनर के साथ रहने पर ऊब जाते हैं। वे अपने साथी के प्रति कम आकर्षित महसूस करने लगते हैं। इससे कई ब्रेकअप होते हैं। इसके अलावा वर्क फ्रॉम होम का खत्म होना भी एक वजह है।

दो हजार लोग सर्वे में हुए शामिल

स्टडी में सामने आया कि 21 फीसदी पुरुष और 19 फीसदी महिलाएं ऑफिस जाकर अपने पार्टनर को धोखा देने से हिचकिचाते नहीं है। इस सर्वे में दो हजार लोगों ने हिस्सा लिया था। पहले जनवरी का महीना धोखेबाजों के महीने के रूप में जाना जाता था। हालांकि अब इसे सितंबर से बदल दिया गया है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close