गार्जियनशिप एक जिम्मेदारी भरा काम है। इसे केवल एक ड्‌यूटी नहीं समझना चाहिए। इसमें कई तरह की सावधानियां रखनी पड़ती हैं, तब जाकर आपका बच्चा समाज के साथ कदम से कदम मिलाकर चल सकता है और अगर आप जरा-सा भी चूके, तो इसका परिणाम गंभीर भी हो सकता है।

असल में आजकल ऐसे ही उदाहरण सामने आ रहे हैं। अभिभावकों ने बच्चों को जरूरत से ज्यादा छूट दे रखी है, लिहाजा घर में बात-बात में तनावपूर्ण माहौल बन जाता है। ऐसा तब ज्यादा देखा जाता है, जब बच्चा कुछ खरीदने की जिद करता है और अभिभावक सोच में पड़ जाते हैं। पर अच्छा यही होगा कि बच्चे की जिद पूरी करने के लिए नहीं, बल्कि उसकी आवश्यकता को देखते हुए ही उसके लिए कुछ खरीदा जाए :

बच्चे की हर इच्छा पूरी न करें

शायद ही ऐसा कोई बच्चा मिलेगा जिसे मॉल जाना, बड़ी-बड़ी गाड़ियों में घूमना आदि अच्छा न लगता हो। लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं है कि आप उसे हमेशा गाड़ी में या मॉल ही ले जाते रहें। यह सही है कि बच्चे को डेली लाइफ में कंफर्ट देना हमारा काम है। पर उस कंफर्ट के बहाने कुछ भी दिला देना या खरीद देना न्यायोचित नहीं है।

हो सकता है कि आपके मना करने पर बच्चा निराश हो जाए या उसे बुरा फील हो। लेकिन आप उसके समझाकर उसकी पसंदीदा चीज को खरीदने से मना कर सकते है।

मना करें, पर तर्क के साथ

अक्सर देखा गया है कि बच्चे की जिद को अभिभावक या तो नजरअंदाज कर देते हैं या फिर उसे डांटकर चुप कर देते हैं। पर यह तरीका सही नहीं है। यदि आपका बच्चा कुछ खरीदने के लिए कहता है और उसे मना करना चाहते हैं, तो उसे सही तरीके से तर्क देकर समझाएं कि वह चीज उसके लिए उपयोगी है या नहीं। सच तो यह है कि बच्चे का जिद करना गलत नहीं है, बल्कि आपका डांटकर उसे चुप कर देना गलत है। कई बार बच्चा अच्छी चीजों के लिए भी जिद करता है। ऐसे में उसकी जरूरत को देखते हुए कुछ चीजें खरीद भी दें।

क्रिएटीविटी को प्रोत्साहित करें

अभिभावक को अपने बच्चे की गतिविधियों पर पैनी निगाह रखनी चाहिए। यदि बच्चा कुछ भी क्रिएटीव करता है, तो भले ही वह उतना अच्छा न हो, पर उसकी प्रशंसा करें और उसे बेहतर की ओर अग्रसर करें। प्रोत्साहन देने वह अपने काम पर ध्यान देगा और अगली बार परिणाम बेहतर आ सकता है। बच्चे को रात में सोते समय कहानियां सुनाएं और उसमें पढ़ने की आदत बढ़ाएं। इससे उसमें कल्पनाशक्ति बढ़ेगी और वह आसानी से आपकी बातों को समझ पाएगा। पर इस दौरान उसमें डिजिटल उपकरणों की आदत कतई न डालें। इससे उसका ध्यान भटकेगा।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags