28 मई 2022: ईमामी लिमीटेड निर्मित 100 प्रतिशत आयुर्वेदिक पाचन टॉनिक “झंडु पंचारिष्ट” ब्रांड, विश्व पाचन स्वास्थ्य दिवस 2022 को पाचन स्वास्थ्य के प्रति लोगों के बीच व्यापक जागरुकता अभियान का कार्यक्रम चलाकर मनाने जा रहा है ।विश्व पाचन स्वास्थ्य दिवस हर साल 29 मई को मनाया जाता है। 2004 में शुरू किया गया, विश्व पाचन स्वास्थ्य दिवस 29 मई, 1958 को विश्व गैस्ट्रोएंटरोलॉजी संगठन के स्थापना की वर्षगांठ के रूप में मनाया जाता है। प्रत्येक वर्ष, यह दिन एक विशेष पाचन सम्बंधित रोग या विकार के बारे में सार्वजनिक और चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े लोगों में जागरूकता बढ़ाने पर केंद्रित कर बारह महीने के लंबे अभियान की शुरुआत का प्रतीक है।

आयुर्वेद के अनुसार, खराब पाचन लगभग सभी बीमारियों का मूल कारण होता है। आयुर्वेद इस बात पर जोर देता है कि आहार, निद्रा और ब्रह्मचर्य लंबे और स्वस्थ जीवन जीने के लिए तीन मुख्य आधार है । अच्छे आहार का इच्छित प्रभाव प्राप्त करने के लिए संबंधित व्यक्ति की पाचनशक्ति अच्छी होनी चाहिए। पाचन अगर ठीक नहीं है तो जठरांत्र, साथ ही, चयापचय संबंधी विकार जैसे रक्तचाप में वृद्धि, रक्त शर्करा के स्तर में वृद्धि, शरीर में अतिरिक्त वसा और कोलेस्ट्रॉल या ट्राइग्लिसराइड के स्तर का असामान्य होना। इसलिए, आयुर्वेद के अनुसार उपचार का मुख्य सिद्धांत शरीर में अग्नि को पुनर्स्थापित करना और संतुलित करना होता है। इसलिए अच्छा पाचन न केवल निरोगी रहने की कुंजी है बल्कि यह हमें कई बीमारियों से बचाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

झंडु सौ वर्षों से अधिक की आयुर्वेदिक विशेषज्ञता के साथ लाखों उपभोक्ताओं के लिए भरोसेमंद आयुर्वेदिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ रहा है, जिसके साथ संस्थागत वैज्ञानिक ज्ञान और उपभोक्ताओं की स्वास्थ्य संबंधी विभिन्न आवश्यकताओं के लिए उत्पादों को विकसित करने का अनुभव है। झंडु पंचारिष्ट 50 साल से भी अधिक समयसे बाजार में उपलब्ध है , जो लोगों को अपने पाचन तंत्र और समग्र स्वास्थ्य का सक्रिय रूप से देखभाल हेतु प्रोत्साहित करने और जागरूकता फैलाने के लिए प्रतिबद्ध है।विश्व पाचन स्वास्थ्य दिवस पर, झंडु पंचारिष्ट ने देश भर में आयोजित किए जा रहे स्वास्थ्य शिविरों के साथ डॉक्टरों और उपभोक्ताओं तक पहुंचने वाले शिक्षाप्रद कार्यक्रमों और अभियानों की शुरुआत की है।

इस अवसर पर इमामी लिमिटेड के हेल्थ केयर डिवीजन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री गुल राज भाटिया ने कहा की, “लोग आमतौर पर बार-बार होने वाली गैस, एसिडिटी, अपच जैसी छोटी-छोटी पाचन संबंधी समस्याओं को नज़रअंदाज़ कर देते हैं, अस्थाई समाधान ढूंढ लेते हैं और आम तौर पर पाचन स्वास्थ्य को नज़रअंदाज़ कर देते हैं। हालांकि, वास्तव में पाचन तंत्र शरीर में सबसे महत्वपूर्ण प्रणालियों में से एक है और वह 70% प्रतिरक्षा का निर्माण करता है। स्वस्थ, सुखी और लंबे जीवन के लिए पाचन स्वास्थ्य के महत्व के बारे में लोगों को शिक्षित करने के लिए झंडु पंचारिष्ट ने एक अग्रणी पहल की है।

मजबूत पाचन तंत्र के महत्व को उजागर करने के लिए चिकित्सा बिरादरी और उपभोक्ताओं में जागरूकता अभियान का कार्यक्रम चलाये जा रहे है। बिना किसी साइड इफेक्ट के 100% आयुर्वेदिक पाचक टॉनिक, झंडु पंचारिष्ट जब निर्धारित खुराक के अनुसार नियमित रूप से लिया जाता है, तो यह हमारे शरीर प्रणाली के सभी 7 पाचन केंद्रों पर काम करता है ताकि पाचन तंत्र को जड़ों से मजबूत किया जा सके और विभिन्न बीमारियों से दीर्घकालिक राहत प्रदान की जा सके जैसे गैस्ट्रिक विकार ,अपच, गैस, अम्लता, भारीपन, कब्ज, आदि। झंडु पंचारिष्ट टोल-फ्री नंबर -1800 572 8000 के माध्यम से मुफ्त चिकित्सक परामर्श भी प्रदान करता है, जहां हर दिन सुबह 9 बजे से शाम 6.30 बजे तक अनुभवी आयुर्वेदिक डॉक्टरों का एक पैनल परामर्श के लिए उपलब्ध होता है।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close