मुंबई Sidharth Shukla Heart Attack । अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला की अचानक हार्ट अटैक की मौत की खबर ने उनके सभी प्रशंसकों को झकझोर दिया है। सिद्धार्थ शुक्ला के चाहने वालों को यकीन ही नहीं हो रहा है कि आखिर फिजिकली इतने फिट इंसान को हार्ट अटैक कैसे आ सकता है। दरअसल हार्ट अटैक एक ऐसी बीमारी है जो व्यक्ति की उम्र के आधार पर नहीं, बल्कि जीवन शैली पर निर्भर करती है।

अनुवांशिक कारणों से भी कम उम्र में आ सकता है हार्ट अटैक

आजकल यह देखने में आता है कि बहुत कम उम्र के लोगों को भी हार्ट अटैक आ जाता है। उसके पीछे मुख्य कारण जीवन शैली में अनियमितता होने के साथ-साथ अनुवांशिक कारण भी शामिल होते हैं। कई शोध में यह खुलासा हो चुका है कि आनुवांशिक कारणों से भी शरीर में रक्त के थक्के तेज गति से बनने लगते हैं, जो आगे चलकर हार्ट अटैक का कारण बन जाते हैं।

मादक पदार्थों के कारण भी हार्ट अटैक का खतरा

जो लोग अत्यधिक शराब पीते हैं या अन्य मादक पदार्थों के सेवन ज्यादा करते हैं, उन्हें भी हार्ट अटैक का खतरा कम उम्र में ज्यादा रहता है। कोकीन आदि का सेवन करने से भी हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में सालाना करीब 7 लाख 35 हजार लोगों दिल का दौरा पड़ता है, जिनमें से 20 से 39 वर्ष के बीच के 0.3 फीसदी पुरुष और महिलाएं होती है। 20 साल से कम उम्र के लोगों में हार्ट अटैक के मामले काफी कम देखने को मिलते हैं। अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी के 2019 सम्मेलन में एक शोध रिपोर्ट पेश की गई थी, जिसमें ये खतरनाक खुलासा हुआ था कि बीते कुछ सालों से युवा वयस्कों में दिल के दौरे की घटनाएं काफी बढ़ती जा रही है।

इन कारणों से बढ़ता है हार्ट अटैक का खतरा

- मादक द्रव्यों का सेवन या अत्यधिक शराब का सेवन

- धूम्रपान

- हाई बीपी की समस्या का लगातार बने रहना

- उच्च कोलेस्ट्रॉल का स्तर लगातार बने रहना

- शारीरिक गतिविधि की कमी

- मधुमेह

कम उम्र में हार्ट अटैक से बचने के लिए आजमाएं ये उपाय

- अपनी जीवनशैली को नियमित रखें और लो कार्ब व फैट वाला खाना खाएं। खाने में तैलीय खाद्य पदार्थों का सेवन काफी कम रखें।

- शारीरिक गतिविधि का विशेष ध्यान रखें। रोज कम से कम 40 से 45 मिनट के लिए कार्डियो एक्सरसाइज जरूर करें। इसमें दौड़ना, स्विमिंग, साइकिलिंग, रस्सी कूदना जैसी शारीरिक गतिविधि शामिल कर सकते हैं।

- अपने खाने में फाइबर व प्रोटीन युक्त डाइट जरूर शामिल करें। जितना शारीरिक वजन है, खाने में उतने ग्राम प्रोटीन डाइट जरूर लेना चाहिए। जैसे आपका वजन यदि 65 किलो है तो दिनभर में 65 ग्राम प्रोटीन युक्त डाइट जरूर लेना चाहिए।

- समय समय पर अपनी शारीरिक जांच जैसे बीपी, कोलेस्ट्रॉल, शुगर आदि की जांच कराते रहना चाहिए।

Posted By: Sandeep Chourey