Valentine Day 2022 : बाल्य काल, यौवन और वृद्घावस्था। जीवन के इस क्रम में जब उम्र बदलती है तो चाहे सोच हो, व्यवहार हो, रुचि हो या फिर खान-पान सब कुछ बदलता दिखता है। इसी तरह किसी के प्यार और प्यार को व्यक्त करने का तरीका भी स्वाभाविक रूप से बदलता है। हम बात कर रहे हैं उनकी, जो उम्र के चार दशक पार कर चुके हैं या उस दहलीज पर हैं। भला अब चाकलेट और टेडी तो आपको उतना क्रेजी बनाएंगे नहीं। अब तो आपको अपने प्यार के साथ एक कप काफी पीने में ही सुखद अहसास होगा। प्यार अब भी वहां अपनी खुशबू लिए मौजूद है, बस उसमें केयरिंग ने थोड़ी जगह बना ली है। एक्स्पर्ट्स भी इसकी व्याख्या लंबी आयु तक चल सकने वाले प्यार की तरह ही करते हैं। अगर आप या आपका पार्ट्नर भी 4 दशक पार कर चुके हैं, तो इस प्यार को निभाने के लिए आपको थोड़ा संजीदा हो जाने की आवश्यकता है। आने वाले वेलेंटाइन डे पर क्या हो सकता है आपका, उनके लिए गिफ्ट।

40 वर्ष पार करते-करते शरीर की आंतरिक और बाह्य रूप में परिवर्तन शुरू हो जाते हैं। अब कुछ शारीरिक समस्याओं का जोखिम बढ़ने लगता है। बचाव का सबसे सरल तरीका होता है प्रिवेन्शन यानी अब आप लापरवाही छोड़कर अपनों के आहार और जीवनशैली का ध्यान रखें ताकि उत्तम स्वास्थ्य बना रहे। हम उन कुछ समस्याओं से आपको अवगत कराते हैं, जिनका सामना अक्सर इस उम्र में हो सकता है।

1. वजन बढ़ना या मोटापा-

वजन कंट्रोल करने के लिए आप कपल योग कर सकते हैं।’ वजन नियंत्रण सूचना नेटवर्क’ के अनुसार, लगभग हर चार में से एक पुरुष अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्‍त है। शरीर का यह अतिरिक्त वजन हृदय-रोग, टाइप टू डायबिटीज, पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस और कुछ प्रकार के कैंसर जैसी कई स्वास्थ्य विषमताओं के जोखिम बढ़ने का कारण बन जाता है। इस उम्र में आपके पार्ट्नर का उनके लिए हेल्‍दी वेट मेंटेन रखना और भी ज्‍यादा जरूरी हो जाता है। बढ़ती उम्र के साथ वजन भी तेजी से बढ़ता है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, व्यक्ति शारीरिक श्रम और एक्सरसाइज से दूर होने लगता है। इसके लिए आप दोनों कपल योग का सहारा ले सकते हैं। यह न केवल आपको क्‍वालिटी टाइम देगा, बल्कि सेहत के लिए भी फायदेमंद होगा।

2 कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ना—40 की उम्र के साथ हृदय संबंधी समस्याओं का जोखिम बहुत अधिक बढ़ जाता है। ‘अमेरिकन काउंसिल ऑन एक्सरसाइज’ के अनुसार, हृदय रोग एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या है, जो हर वर्ष वर्ल्डवाइड तकरीबन 17 मिलियन से भी अधिक मौतों के लिए जिम्मेदार होती है। अब इस उम्र की अवस्था में पहले से हाई ब्लड प्रेशर या हाई कॉलेस्ट्रॉल जैसे हृदय रोगों के जोखिम कारक हो सकते हैं। आप दोनों को ही अपने आहार में एवोकाडो, नट्स और देशी घी जैसे हेल्‍दी फैट शामिल करने चाहिए। साथ ही कुकीज, जंक फूडस और ट्रांस फैट वाले आहार से बचना चाहिए। इससे ब्लड प्रेशर और कॉलेस्ट्रॉल दोनों के स्तर में सुधार होता है।

3. मांसपेशियां खोने लगती हैं- अगर अभी तक आप दोनों ने अपने रूटीन में एक्‍सरसाइज और शारीरिक श्रम को महत्व नहीं दिया है, तो मांसपेशियों की हानि का जोखिम बढ़ सकता है। अपने पार्टनर की मांसपेशियों को बनाए रखने में आप उनका सहयोग कर सकती हैं, उन्हें एक स्वस्थ आहार देने और शारीरिक श्रम के लिए प्रोत्साहित कर सकती हैं। आप दोनों साथ में बेडमिंटन खेलें, स्विमिंग करें, लंबी सैर को निकलें और साल के कुछ दिन किसी एंडवेंचर्स ट्रिप के लिए भी जा सकते हैं।

4 डायबिटीज का जोखिम—मोटापा, तनाव और अस्वास्थ्यकर भोजन की आदतें, जो आज की आबादी के बीच व्यापक रूप से प्रचलित है। 40 के बाद टाइप टू डायबिटीज विकसित होने का सर्वाधिक खतरा होता है। इसके जोखिम को कम करने के लिए आप अपने पार्टनर की कुछ चीजों का ध्यान रख सकती हैं। जैसे वे शारीरिक रूप से सक्रिय रहें, धूम्रपान न करें, शराब का सेवन कम करें, पर्याप्त नींद लें, तनाव कम करने का प्रबंधन करें और नियमित स्वास्थ्य जांच करवाएं।

5 हड्डियां कमजोर होना—इस उम्र के बाद बोन डेंसिटी धीरे-धीरे क्षीण होने लगती है, जिससे हड्डियों की ताकत कम होने लगती है। ऐसे में जोड़ों में दर्द, गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याओं का अधिक जोखिम होता है।ध्यान रहे बढ़ती उम्र के साथ उन्हें कैल्शियम और विटामिन-डी की अधिक आवश्यकता होगी। आप उनके लिए ऐसे खाद्य पदार्थों का चुनाव करें, जो कैल्शियम और विटामिन-डी से संपन्न हों। आप यदि चाहें तो अपने पार्टनर के लिए चिकित्सक से परामर्श करके, विटामिन-डी सप्लीमेंट्स का सुझाव भी ले सकती हैं।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close