World heart day 2021: हार्ट हमारे शरीर का एक बेहद महत्वपूर्ण अंग है और इसकी सेहत के प्रति हमें जागरूक रहने की जरूरत है। हाल के दिनों में कम उम्र के लोगों में भी हार्ट अटैक की समस्या आने लगी है। यही कारण है कि दिल के स्वास्थ्य के प्रति लोगों को सतर्क करने के लिए हर साल 29 सितंबर को World Heart Day मनाया जाता है। कोरोना महामारी के दौरान दिल के मरीजों की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। इसके अलावा गलत खानपान व जीवन शैली के कारण भी हृदय की सेहत पर असर पड़ा है।

World Heart Day का महत्व

विश्व में हार्ट अटैक के रोगियों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। दुनियाभर में किए जा रहे शोध व सर्वे रिपोर्ट में यह खुलासा हो रहा है कि आजकल कम उम्र के लोगों को भी हार्ट अटैक की समस्या हो रही है। ऐसे में World Heart Day का मुख्य उद्देश्य लोगों को अपने हार्ट के प्रति सतर्क करना है।

ऐसे रखें अपने दिल का ख्याल

- अपने हार्ट के सेहत यदि ठीक रहना है तो आपको सबसे पहले अपनी दिनचर्या में थोड़ा बदलाव लाना होगा। देर रात तक जागने से बचें और रात में ज्यादा गैजेट्स के इस्तेमाल से भी बचें।

- खानपान का भी विशेष ख्याल रखें और डाइट में लो कार्ब व वसा युक्त भोजन ज्यादा खाएं। कोशिश ये करें कि शाम को 6 या 7 बजे के बाद कुछ भी खाना न खाएं। इसके अलावा सुबह ज्यादा से ज्यादा प्रोटीन व फाइबर युक्त खाना लें।

- व्यायाम का भी विशेष ध्यान रखें। दिल की सेहत के लिए कार्डियो एक्सरसाइज को बेहतर माना जाता है। रोज कम से कम 40 मिनट ब्रिस्क वॉक करें या साइकिल चलाएं। इसके अलावा स्विमिंग भी फायदा पहुंचाती है।

विश्व हृदय दिवस का इतिहास

दिल के रोगियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए WHO ने दुनिया भर में विश्व हृदय दिवस साल 2000 से मनाने की घोषणा की। पहले यह दिवस सितम्बर माह के आखिरी रविवार को मनाया जाता है, लेकिन साल 2014 से World Heart Day 29 सितंबर को मनाया जाने लगा है।

Posted By: Sandeep Chourey