Ayurved Tips। चाहे कोई बॉडी बिल्डर हों या हॉस्टल में रहने वाले बच्चे या कोई अन्य नौकरी पेशा, सभी नाश्ते में रूप में केला और दूध का सेवन करना पसंद करते हैं। स्वाभाविक रूप से यह माना जाता है कि दूध और केल खाने से वजन बढ़ता है और मांसपेशियां मजबूत होती है। लेकिन आयुर्वेद में इस दोनों को साथ में खाना वर्जित बताया गया है। आयुर्वेद के मुताबिक दूध और केला साथ में मिलाकर खाना एक बड़ी गलती हो सकती है, जिससे सेहत को कई नुकसान होते हैं।

पोषक तत्वों से भरपूर होता है दूध

गौरतलब है कि दूध कैल्शियम, प्रोटीन, स्वस्थ वसा और विटामिन B से भरपूर होता है, वहीं दूसरी ओर केला में भी फाइबर, पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे कई पोषक तत्व होते हैं। आयुर्वेद में तो इन दोनों को मिलाकर सेवन करना पूरी तरह निषेध हैं, वहीं अब डॉक्टरों का कहना है कि इससे पाचन प्रक्रिया पर असर हो सकता है और कुछ लोगों का नींद का पैटर्न भी बदल सकता है। डॉक्टरों का कहना है कि अगर कोई दूध पीने के बाद केला खाना चाहता है तो साइड इफेक्ट से बचने के लिए 20 मिनट इंतजार करना चाहिए।

आयुर्वेद में भी उल्लेख है कि हर भोजन क असर हमारे शरीर पर पड़ता है। एक व्यक्ति की जठराग्नि इस बात पर निर्भर करती है कि भोजन कैसे पचता है और इसके लिए उचित लेना जरूरी होता है। प्राचीन भारतीय चिकित्सा पद्धति में दूध और केला असंगत मिश्रण है। दूध और केला पोषण संबंधी कमियों को पूरा करते हैं, लेकिन साथ में खाने से पाचन तंत्र पर दबाव पड़ता है।

दूध और केला साथ में खाने से ये परेशानी

यदि आप भी दूध और केला साथ में मिलाकर खाते हैं तो पेट की गैस, साइनस, सर्दी, खांसी, शरीर पर दाने निकलना, उल्टी, दस्त जैसी समस्या हो सकती है। वहीं शरीर में काफी भारीपन महसूस होता है।

ऐसे करे दूध और केले का सेवन

हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि दूध और केले का एक साथ सेवन करने का सबसे अच्छा तरीका दोनों के बीच 20 मिनट का अंतर रखना है। भले ही यह वर्कआउट से पहले या बाद में इसका सेवन करें, लेकिन दोनों चीजों को खाते के दौरान समय अंतराल का ध्यान जरूर रखें।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close