Banana Flower Benefits । पूरी दुनिया में केला एक ऐसा फल है, जो सबसे ज्यादा खाया जाता है। चीन के बाद भारत में केले का उत्पादन सबसे ज्यादा होता है। केला खाने के फायदों के बारे में तो आपने बहुत सुना होगा, लेकिन बहुत कम लोगों को पता है कि केले का फूल भी एक आयुर्वेदिक औषधि है, इससे कई बीमारियों को नियंत्रित किया जा सकता है। अल्सर, अपच, कब्ज सहित पेट संबंधित बीमारियों को काबू करने में केले के फूल की सब्जी का सेवन करना फायदेमंद होता है।

केले के फूल की खासियत

केले के फूल बड़े आकार के लाल, नुकीले फूल होते हैं। ये फूल पीले या गुलाबी रंग के होते हैं। केले के फूलों में कई बायोएक्टिव यौगिक होते हैं और स्वाद के लिए पौष्टिक, कुरकुरे और स्टार्च युक्त होते हैं। केले के फूल में प्रोटीन 19.60 फीसदी, फाइबर 70 फीसदी, कार्बोहाइड्रेट 53.78 फीसदी होता है। इसके अलावा केले में सोडियम, फास्फोरस, पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, लोहा, जिंक भी भरपूर मात्रा में होता है। केले के फूल में बायोएक्टिव यौगिक जैसे एल्कलॉइड, सैपोनिन, सुपरऑक्साइड डिसम्यूटेज, कार्डियक ग्लाइकोसाइड, स्टेरॉयड और फेनोलिक यौगिक मौजूद होते हैं।

केले के फूल का सेवन करने से फायदे

- केले के फूलों में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। यह शरीर की कोशिकाओं और ऊतकों को नुकसान से बचाता है। मधुमेह और कैंसर रोगों के खिलाफ लड़ने में मदद करता है।

- शोधकर्ताओं ने पाया कि केले के फूल के अर्क में ऐसे रसायन होते हैं, जो कैंसर कोशिकाओं के प्रसार को रोकती है। यह एक एंटी कैंसर औषधि के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

- केले के फूल के अर्क में रक्त शर्करा के स्तर को कम करने की क्षमता होती है। यह ग्लाइकेटेड हीमोग्लोबिन (ग्लूकोज से जुड़े हीमोग्लोबिन) के स्तर को कम करने में भी मदद कर सकता है, जिसका उपयोग कुछ महीनों में ग्लूकोज नियंत्रण के लिए किया जाता है।

- केले के फूल आयरन और फाइबर से भरपूर होते हैं और रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सकता है। केले के फूल के कारण हीमोग्लोबिन के स्तर में वृद्धि होती है।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close