Constant Pain in Body Sign of Cancer। कैंसर एक ऐसी बीमारी है, जिसके बारे में जल्द पता चल जाए तो इलाज संभव होता है, लेकिन अधिकांश लोग शरीर में होने वाले किसी दर्द को सामान्य दर्द मानकर बड़ी गलती कर बैठते हैं। दरअसल यह सामान्य सा दर्द आगे चलकर कैंसर की आखिरी स्टेज के रूप में सामने आता है और फिर डॉक्टरों के लिए इसका इलाज करना पाना संभव नहीं हो पाता है। ऐसे में कभी भी शरीर के किसी भी हिस्से में होने वाले दर्द को सामान्य नहीं लेना चाहिए क्योंकि हो सकता है कि वह शरीर में कैंसर की पहली स्टेज हो और जांच के बाद समय पर इलाज शुरू होने पर कैंसर को काबू में किया जा सके।

कैंसर के दर्द के लक्षण

जब शरीर में कैंसर शुरुआती स्टेज पर होता है तो ट्यूमर शरीर में हड्डियों, नसों या अन्य अंगों पर दबाव डालता है। शुरुआती स्टेज में कैंसर के दर्द को उन्नत उपचार द्वारा ट्रिगर किया जा सकता है। इसमें मरीज को कुछ कीमोथेरेपी दवाएं दी जाती है। इसके अलावा कुछ मरीजों की रेडियोथेरेपी भी की जाती है।

कैंसर का दर्द भी अलग-अलग प्रकार का

जब शरीर में कैंसर से संबंधित दर्द होता है तो अलग-अलग मरीजों में इसके लक्षण भी अलग-अलग तरह के होते हैं। कुछ लोगों में जहां ऐंठन जैसा दर्द महसूस होता है, जो सामान्य शारीरिक दर्द के समान ही लगता है, वहीं कुछ लोगों में न्यूरोपैथिक पैन जैसी समस्या होती है। इसमें कैंसर के कारण मरीज का नर्वस सिस्टम प्रभावित हो जाता है। ऐसे में मरीजों की कीमोथेरेपी, रेडियोथेरेपी या सर्जरी की जाती है।

कैंसर से जुड़े दर्द में 28% लोगों को आंतों में दर्द होता है। शरीर के अंदरूनी हिस्से में ट्यूमर के कारण छाती, पेट की आंतों के अलावा लीवर पर दबाव के कारण मरीज को भयावह दर्द होता है। कैंसर से जुड़ा दर्द सुस्त, तेज या जलन वाला भी हो सकता है। यह दर्द निरंतर, रुक-रुक कर, हल्का, मध्यम या गंभीर भी हो सकता है। इस दौरान यदि आपको तेज, लगातार दर्द, बार-बार होने वाला दर्द के कारण दिनचर्या में बाधा आती है तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

इन लक्षणों को बिल्कुल नजरअंदाज न कैंसर

शरीर में किसी हिस्से में कैंसर का ट्यूमर विकसित हो रहा है तो शरीर कुछ संकेत देने लगता है, जिन्हें बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। यदि अत्यधिक थकान, रक्तस्राव और अस्पष्टीकृत चोट, अचानक ज्यादा वजन घटे या शरीर के किसी भी हिस्से में गांठ विकसित होने लगे या त्वचा में कोई बदलाव होने लगे तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close