Chronic Kidney Disease । बदलती जीवनशैली और बढ़ते पर्यावरण प्रदूषण के कारण किडनी मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। एक स्टडी के मुताबिक भारत में हर साल किडनी मरीजों की संख्या 15 फीसदी बढ़ रही है। देश में औसतन 14 फीसदी महिलाएं और 12 फीसदी पुरुष किडनी की समस्या से ग्रसित हैं और इसमें तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। वहीं अगर पूरी दुनिया की बात की जाए तो करीब 19.5 करोड़ महिलाएं हर साल किडनी की समस्या से पीड़ित हो जाती है। Chronic Kidney Disease का मुख्य कारण खानपान में लापरवाही के साथ और गलत जीवन शैली है, जिसके कारण हर Chronic Kidney Disease के कारण 2 लाख लोगों की मौत हो जाती है। चिकित्सकों का कहना है कि बढ़ता वायु प्रदूषण भी Chronic Kidney Disease का एक प्रमुख कारक है. विशेषज्ञों का कहना है कि Chronic Kidney Disease की बढ़ती घटनाओं में कई बच्चे भी शामिल हो रहे है, जो चिंता का विषय है। ऐसे में डॉक्टर व हेल्थ विशेषज्ञ Chronic Kidney Disease से बचने का उपाय भी बताते है। डॉक्टरों के मुताबिक यदि आप ये 7 गलतियां करते हैं तो तत्काल अलर्ट हो जाएं अन्यथा Chronic Kidney Disease होने की आशंका बढ़ सकती है -

ज्यादा नमक का सेवन न करें

यदि आप ज्यादा नमक खाते हैं यानी आप अपनी डाइट में हाई सोडियम लेते हैं तो भी किडनी खराब होने का खतरा रहता है। इसलिए डॉक्टर खाने में कम नमक खाने की सलाह देते हैं।

प्रोसेस्ड फूड में मौजूद फास्फोरस भी पहुंचाता है नुकसान

आजकल लोग प्रोसेस्ड फूड खाना ज्यादा पसंद करते हैं, लेकिन ऐसे खाद्य पदार्थों में सोडियम और फास्फोरस ज्यादा मात्रा में होता है, जो किडनी के लिए हानिकारक होता है। इसके अलावा ज्यादा फास्फोरस हड्डियों के लिए भी घातक होता है।

कम पानी पीने की गलती मत करना

शरीर को स्वच्छ रखने के लिए बार-बार पानी पीना ज्यादा बहुत जरूरी है। यदि आप पानी बहुत कम पीते हैं तो किडनी की सक्रियता में कमी आती है। पानी की कमी से किडनी स्टोन की समस्या भी हो सकती है। बॉडी के हाइड्रेट होते रहने से टॉक्सिन और अतिरिक्त सोडियम शरीर से बाहर निकल जाता है और शरीर में अनावश्यक जमाव नहीं होता है, जिससे स्टोन की समस्या नहीं होती है। रोज कम से कम 4 से 5 लीटर पानी पीना जरूर पीना चाहिए।

ज्यादा शुगर का सेवन करने से बचें

शुगर के अतिरिक्त सेवन से शरीर का वजन बढ़ता है और ऐसे में डायबिटीज व हाई ब्लड प्रेशर का खतरा भी बढ़ता है। जिन लोगों को डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है, उन्हें Chronic Kidney Disease होने की आशंका ज्यादा रहती है। इसलिए मीठे बिस्किट या व्हाइट ब्रेड या शुगर युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन कम करना चाहिए।

लगातार एक जगह न बैठे, रोज व्यायाम जरूर करें

यदि आप ऑफिस में काम करते है या कोई बैठने वाला काम करते हैं तो इस बात का ध्यान रहें कि थोड़ी-थोड़ी देर में चहलकदमी जरूर कर लें। एक ही स्थान पर लगातार न बैठें। लगातार एक ही स्थान पर बैठे रहने से ब्लड प्रेशर और मेटाबॉलिज्म बिगड़ता है। रोज कम से कम 40 मिनट व्यायाम जरूर करें। नियमित व्यायाम से किडनी स्वस्थ रहती है।

ज्यादा मांस का सेवन न करें

एनिमल प्रोटीन खून में ज्यादा एसिड जनरेट करता है। ऐसे में यह हमारी किडनी को भी डैमेज कर सकता है और एसिडोसिस का कारण बन सकता है. एसिडोसिस एक ऐसा रोग है, जिसमें किडनी तेजी से एसिड को बाहर नहीं निकाल पाती है और शरीर में टॉक्सिन बढ़ने से अन्य कई रोग होने लगते हैं। इससे शरीर में कई ग्लैंड्स भी प्रभावित होने लगती है।

विटामिन B-6 और विटामिन-D की कमी

डॉक्टरों के मुताबिक पोषक तत्वों से युक्त आहार का सेवन करना चाहिए। यदि खाने में विटामिन बी6 और विटामिन डी की कमी रहती है तो उससे भी Chronic Kidney Disease होने की आशंका बढ़ जाती है। इसके अलावा मैग्नीशियम की कमी होने से शरीर से अतिरिक्त कैल्शियम नहीं निकल पाता और किडनी में पथरी हो सकती है। साथ ही कैफीन युक्त तरल पदार्थों का सेवन करने से भी बचना चाहिए। कैफीन के सेवन से किडनी पर तनाव बढ़ जाता है। कैफीन के ज्यादा सेवन से किडनी में पथरी होने का खतरा रहता है।

पर्याप्त नींद लें, ब्लड प्रेशर रहेगा संतुलित

यदि आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं तो शरीर का ब्लड प्रेशर असंतुलित हो सकता है और लंबे समय तक ऐसी स्थिति बनी रहने से Chronic Kidney Disease होने की आशंका बढ़ जाती है। एक व्यक्ति को रोज 7-8 घंटे की नींद जरूर लेना चाहिए। किडनी शरीर में पोटेशियम और एसिड तत्वों की मात्रा को संतुलित रखने का काम करती है। साथ ही कई विशेष हार्मोन का भी उत्सर्जन करती है। कई बार हमारी गलत आदतें शरीर को अस्वस्थ बनाती है।

ज्यादा दर्द निवारक दवाओं का सेवन न करें

किसी प्रकार की शारीरिक तकलीफ या बीमारी होने पर अक्सर लोग पैन किलर्स या स्टेरॉयड दवाओं का ज्यादा उपयोग करने लगते हैं। स्टेरॉयड युक्त दवाएं किडनी पर बुरा असर डालती है और बड़ी तेजी से किडनी डैमेज करती है। जिन लोगों को किडनी से जुड़ी समस्या है, उन्हें स्टेरॉयड युक्त दवाओं का सेवन करने से बचना चाहिए।

Posted By: Sandeep Chourey