डॉ. भावेश बंग

देश में कैंसर के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा होता हुआ देखा जा रहा है। पिछले दो दशकों मे कैंसर के मामलों मे दोगुनी से भी ज्यादा वृद्घि हुई है। आज भारत हृदय रोग के बाद कैंसर से होने वाली मृत्यु के मामलों मे दूसरे स्थान पर है। यह समझना जरूरी है कि कैंसर के मामले क्यों बढ़ रहे हैं और कैसे इससे बचाव कर सकते हैं।

लंबा जीवन यह सुनने मे थोड़ा विचित्र लग सकता है पर कैंसर का एक प्रमुख कारण है व्यक्ति का अधिक समय तक जीवित रहना। किसी भी व्यक्ति को कैंसर होने की संभावना उसकी उम्र के साथ बढ़ती है। जैसे जैसे जीवन लंबा हो रहा है, वैसे-वैसे कैंसर की आशंका भी बढ़ रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए स्तन कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा कैंसर इत्यादि की स्क्रीनिंग की जाती है। खराब जीवनशैली कैंसर का दूसरा बड़ा कारण है आधुनिक जीवनशैली के अत्यधिक तनाव की वजह से शरीर की कैंसर प्रतिरोधक क्षमता कम होना तथा विभिन्ना प्रकार के व्यसन जैसे शराबखोरी और धूम्रपान का बहुत आम होते जाना।

कैसे पहचानें कैंसर का

  1. लंबे समय से चली आ रही खांसी एवं/अथवा खांसी के साथ खून आना
  2. मल/मूत्र की आदत में बदलाव आना या मल/मूत्र के रास्ते खून जाना
  3. शरीर में किसी भी तरह की नई गठान होना या किसी पुरानी गठान के आकार में अचानक से वृद्धि होना
  4. खाना निगलने में तकलीफ होना
  5. मुंह में ऐसा छाला जो तीन हफ्ते तक ठीक न हो
  6. बच्चेदानी के रास्ते खून या किसी और तरह का स्राव होना इत्यादि।

कैंसर की गठान में दर्द हो यह जरूरी नहीं

यहां पर यह भी ध्यान रखना जरूरी है कि शुरुआती अवस्था में कैंसर की गठान में दर्द नहीं होता है। कैंसर की गठानों के साथ उभरे लक्षण दूसरी बीमारियों के समान भी हो सकते हैं इसलिए गफलत में न रहें। ठीक से जांचें करा लेंगे तो कैंसर के बारे में सुनिश्चित जानकारी रख सकेंगे। इसके बावजूद यदि कोई लक्षण तीन हफ्तों से अधिक समय तक कायम रहे तो यह स्थिति ठीक नहीं है। इसकी ठीक से जांचें कराएं और कैंसर है या नहीं यह सुनिश्चित करें।

भारत मे होने वाले कुछ प्रमुख कैंसर, मुखएवं गले के कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा एवं आहार नाली के कैंसर प्रमुख रूप से इन व्यसनों की वजह से होते हैं। इसके अलावा महिलाओं में सबसे ज्यादा होने वाला स्तन कैंसर भी बदलती जीवनशैली से संबंधित कारणों से बढ़ रहा है। लड़कियां अधिक उम्र में विवाह करती हैं और फिगर की चिंता करते हुए बच्चा हो जाने पर स्तनपान नहीं कराती हैं। बढ़ते स्तन कैंसर की एक वजह यह भी है।

पर्यावरण कैंसर बढ़ने का तीसरा प्रमुख कारण हमारे पर्यावरण में कैंसर कारक केमिकल्स (कार्सिनोजन्स) का अत्यधिक मात्र में पाया जाना है। ये कार्सिनोजन्स हमारे शरीर में हवा (वायु प्रदूषण), भोजन एवं पानी (कीटनाशक) इत्यादि के माध्यम से प्रवेश करते हैं तथा शरीर के डीएनए में परिवर्तन कर के कैंसर को जन्म देते हैं।

(लेखक एमजीएम मेडिकल कॉलेज, इंदौर में कैंसर रोग विशेषज्ञ हैं।)

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close